close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जैैसलमेर: टिकट न मिलने से कांग्रेस ने नाराज सुनीता भाटी, निर्दलीय लड़ सकती हैं चुनाव!

पत्रकारों से बात करते हुए सुनीता भाटी ने हरीष चौधरी को लेकर भी बयान दिया और कहा उनकी टिकट काटने में हरीष चौधरी की महत्ती भूमिका रही है.

जैैसलमेर: टिकट न मिलने से कांग्रेस ने नाराज सुनीता भाटी, निर्दलीय लड़ सकती हैं चुनाव!
फोटो साभार- Facebook

जैसलमेर: प्रदेश में कांग्रेस द्वारा अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने के साथ ही बगावत होनी शुरू हो गई है. जैसलमेर सीट पर कांग्रेस से दावेदारी कर रही सुनीता भाटी अपना टिकट कटने से नाराज हैं और इस बार कांग्रेस के साथ आरपार की लड़ाई के मूड में दिख रही हैं. कांग्रेस ने जैसलमेर से गत विधानसभा चुनाव में हारे हुए प्रत्याषी रूपाराम को एक बार फिर अपना उम्मीदवार बनाया है जबकि सुनीता भाटी का कहना है कि गत बार भी उनका टिकट काट कर रूपाराम को दिया गया था और इस बार टिकट का आश्वासन देने के बाद ऐन वक्त पर पार्टी द्वारा काट दिया गया. हालांकि, सुनीता भाटी ने फिलहाल अपना रूख स्पष्ट नहीं किया है लेकिन संभवतः वह निर्दलीय चुनाव लड़कर या फिर बीजेपी का दामन थाम कर कांग्रेस को बडा नुकसान पहुंचाने का मन बना सकती है.

पत्रकारों से बात करते हुए सुनीता भाटी ने हरीश चौधरी को लेकर भी बयान दिया और कहा उनकी टिकट काटने में हरीश चौधरी की महत्ती भूमिका रही है. उन्होंने कहा कि विगत दिनों रूपाराम द्वारा हरीश चौधरी की नामांकन रैली में कहा गया था कि दलित समाज की सात पीढी भी अगर हरीश चौधरी के पैर धोकर पीये तो ऋण नहीं उतर सकता और रूपाराम की इसी स्वामीभक्ति के फलस्वरूप हरीश चौधरी ने सुनीता भाटी का टिकट कटवाकर रूपाराम को दिलवाया है.

हालांकि पार्टी से बगावत को लेकर सुनीता भाटी ने अभी अपना रूख स्पष्ट नहीं किया है. उन्होंने कहा है कि एआईसीसी के पदाधिकारियों से उनकी बात चल रही है. ऐसे में अगर आला कमान द्वारा सतोषप्रद जवाब नहीं दिया गया तो कोई बड़ा कदम उठा सकती है. 

पहली सूची में 152 उम्मीदवार
बता दें, गुरुवार देर रात कांग्रेस द्वारा 152 सीटों पर प्रत्याशियों की सूची को जारी किया गया था. जिसमें  29 एससी, 24 एसटी, ब्राह्मण और वैश्य समुदाय को मिला कर 20 सीटें दी गई है. वहीं राजपूतों को 13, जाट को 23, मुस्लिमों को  9, महिलाओं को 20 और नए चेहरों को 46 सीटें दी गई हैं.