close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जैसलमेर: बिजली की कटौती से परेशान ग्रामीणों ने पुलिस थाने में CM के नाम सौंपा ज्ञापन

इस भयंकर परेशानी को लेकर गुरुवार को ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर, जोधपुर विधुत निगम, मुख्यमंत्री के नाम का पुलिस थाने में ज्ञापन सौंपा है.

जैसलमेर: बिजली की कटौती से परेशान ग्रामीणों ने पुलिस थाने में CM के नाम सौंपा ज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर

जैसलमेर: मोहनगढ़ कस्बे में भीषण गर्मी होने से आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ता है. लोग भीषण गर्मी से बचने के लिए अपने घरों में पंखे कूलर चालू करके गर्मी से बचने का जतन कर रहे है लेकिन मोहनगढ़ की बिजली व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई हुई है. पिछले 6 महीने से मोहनगढ़ गांव और आस पास ढाणियों की बिजली दिन में पांच पांच मिनट के बाद 50 बार कटौती की जाती है. 

कभी तो बिजली की कटौती के बाद वापस बिजली आती है तो कभी हाइवोल्टेज आने के कारण घरो में विधुत उपकरण जल जाते हैं. इसको लेकर ग्रामीणों ने बिजली विभाग के कर्मचारियों को कई बार अवगत करवाया गया है लेकिन बिजली विभाग के कर्मचारियों को कोई फर्क नहीं पड़ रहा है. बिजली कटौती की जाती है तो ग्रामीण बिजली कटौती की वजह पूछते हैं तो कर्मचारी फॉल्ट का हवाला देकर अपना पल्ला झाड़ देते है. इस भयंकर परेशानी को लेकर गुरुवार को ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर, जोधपुर विधुत निगम, मुख्यमंत्री के नाम का पुलिस थाने में ज्ञापन सौंपा है.

ग्रामीणों ने बताया कि एक साल पहले मोहनगढ़ गांव को 133 KV का GSS की स्वीकृति प्रदान की गई थी लेकिन एक साल पूरा होने के बाद भी अभी तक GSS का काम चालू नही किया गया है. बड़े दुख की बात है कि प्रसासन की उदासीनता के चलते GSS का निर्माण कार्य अभी तक शुरु नहीं किया गया है. जब तक GSS को सुचारू रूप से चालू नहीं किया जाता है तब तक मोहनगढ़ के पास बनी L&T बाड़मेर लिप्त प्लांट की लाइन से मोहनगढ़ गांव को जोड़ कर इस भीषण गर्मी से बचाया जाए. अगर सात दिन में मोहनगढ़ गांव को L&T से नहीं जोड़ा गया तो ग्रामीणों द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा. जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी.