जोधपुर: छत गिरने से मरने वाले लोगों के परिवार को सरकार ने दिए 12 लाख

पुलिस अधिकारियों की समझाइश के करीब 3 घंटे बाद पीड़ित परिवार और जिला प्रशासन के बीच वार्ता हुई. जिला प्रशासन ने प्रति मृतक 4,00,000 की सहायता राशि देने की बात कही. 

जोधपुर: छत गिरने से मरने वाले लोगों के परिवार को सरकार ने दिए 12 लाख
फाइल फोटो

जोधपुर: राजस्थान के जोधपुर में सोमवार देर रात आई तेज आंधी और तूफान के चलते एक निर्माणाधीन मकान की दीवार ढहने से पड़ोस के परिवार में सो रहे तीन लोगों की मौत हो जाने के मामले में परिजनों की मांग पर जिला प्रशासन की ओर से मृतक आश्रित परिवार को कुल 12,00,000 की सहायता राशि उपलब्ध कराई गई है. 

सोमवार देर रात पहाड़गंज में एक निर्माणाधीन मकान की दीवार पास के मकान पर गिर गई थी. जिससे उस घर में सो रही नैना देवी, उसका पुत्र विनोद, पुत्र वधू कोमल की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं दूसरे पुत्र मनीष को गंभीर चोट आई. मनीष को उपचार के लिए मथुरादास माथुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उसकी हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है. 

इस हादसे के बाद पूरे मोहल्ले में शोक की लहर छा गई. पूरे मोहल्ले वासी महात्मा गांधी अस्पताल की मोर्चरी पर एकत्रित हुए और उन्होंने जिला प्रशासन से मृतक आश्रित परिवार को 2 करोड़ की सहायता राशि देने की मांग की. सहायता राशि देने के बाद ही पोस्टमार्टम करवाने की बात कही. 

पुलिस अधिकारियों की समझाइश के करीब 3 घंटे बाद पीड़ित परिवार और जिला प्रशासन के बीच वार्ता हुई. जिला प्रशासन ने प्रति मृतक 4,00,000 की सहायता राशि देने की बात कही. पुलिस और जिला प्रशासन की समझाइश के बाद परिजन यह सहायता राशि लेने के लिए तैयार हुए. जिस पर 12,00,000 की सहायता राशि पीड़ित परिवार को उपलब्ध कराई गई. वहीं इसके बाद पुलिस प्रशासन ने तीनों शवों का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया. वहीं मृतक नैना देवी के भाई ने पड़ोसी के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या की रिपोर्ट दी है जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.