जोधपुर: लूणी नदी में खनन माफिया के अतिक्रमण पर हाईकोर्ट ने मांगा जवाब...

 राजस्थान हाईकोर्ट जोधपुर में जस्टिस संगीत लोढ़ा और जस्टिस पुष्पेंद्र सिंह भाटी की खंडपीठ ने संभागीय आयुक्त जोधपुर समेत संबंधित पक्षकारों को नोटिस जारी करते हुए जवाब तलब किया है.

जोधपुर: लूणी नदी में खनन माफिया के अतिक्रमण पर हाईकोर्ट ने मांगा जवाब...
खनन विभाग, खनन माफिया के लिए खिलाफ बड़ी कार्रवाई करने में नाकाम ही साबित हो रहे हैं.

जोधपुर: राजस्थान के बाड़मेर जिले के बालोतरा लूणी नदी में भू माफिया की ओर से किए गए अतिक्रमण और अवैध खनन को लेकर हाइकोर्ट में सुनवाई हुई. याचिकाकर्ता सुमेर गौड़ की जनहित याचिका पर राजस्थान हाईकोर्ट की मुख्य पीठ जोधपुर में सुनवाई हुई. राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस संगीत राज लोढ़ा और जस्टिस पुष्पेंद्र सिंह भाटी की खंडपीठ ने जनहित याचिका पर प्राम्भिक सुनवाई करते हुए मामले में संभागीय आयुक्त जोधपुर, जिला कलेक्टर बाड़मेर सहित संबंधित पक्षकारों को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है.

याचिकाकर्ता सुमेर गौड़ की ओर से अधिवक्ता विपुल सिंघवी ने पैरवी करते हुए बताया कि बालोतरा में लूनी नदी पर भू माफिया ने अतिक्रमण कर पक्के निर्माण करवा दिये हैं. साथ ही, नदी में लगातार अवैध रूप से खनन भी किया जा रहा है. जिससे लूनी नदी के अस्तित्व पर संकट गहरा गया है. इस संबंध में ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर, एसडीएम, संभागीय आयुक्त को ज्ञापन देकर भी कई बार अवगत करवाया गया, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई.  

सुनवाई के दौरान अधिवक्ता ने लूनी नदी में हुए अतिक्रमण के साक्ष्य और दस्तावेज भी खंडपीठ के सामने रखे. अधिवक्ता के तर्क सुनने के बाद राजस्थान हाईकोर्ट जोधपुर में जस्टिस संगीत लोढ़ा और जस्टिस पुष्पेंद्र सिंह भाटी की खंडपीठ ने संभागीय आयुक्त जोधपुर समेत संबंधित पक्षकारों को नोटिस जारी करते हुए जवाब तलब किया है.

आपको बता दें, कि अदालती सख्ती के बाद भी सूबे के भीतर अवैध खनन जोरों पर जारी है. सरकार हो या खनन विभाग, खनन माफिया के लिए खिलाफ बड़ी कार्रवाई करने में नाकाम ही साबित हो रहे हैं. आए दिन खनन माफिया की पुलिस या खनन विभाग के लोगों के साथ होने वाली झड़प के बाद भी खनन माफिया पर शिकंजा कसा नहीं जा पा रहा है, नतीजन नदियां और पहाड़ खोखले होते जा रहे हैं.