जोधपुर: सब्जी-फल मंडी में पुलिस की मनमानी से जनता परेशान, किसानो ने किया विरोध

पुलिस के इस कदम से फुटकर विक्रेताओं को ना केवल परेशानी उठानी पड़ रही है. साथ ही, उनका यहां पर व्यापार करना मुश्किल हो गया है.

जोधपुर: सब्जी-फल मंडी में पुलिस की मनमानी से जनता परेशान, किसानो ने किया विरोध
गेट के बंद होने के कारण पिछले कई दिनों से उनकी फल व सब्जियां भी खराब हो रही है.

भवानी भाटी/जोधपुर: राजस्थान के पावटा से हाल ही में फल-सब्जी मण्डी को भदवासिया शिफ्ट किया गया. लेकिन आम आदमी की नई फल सब्जी मण्डी मे भी समस्या का सामना करना पड रहा है. मंडी प्रशासन फल सब्जी मण्डी का गेट दिन बैरिकेड लगाकर बन्द कर देता है, जिससे सब्जियां खरीदने आने वालो के साथ ही किसानों फुटकर व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

वहीं, आम लोगों ने इसको लेकर विरोध किया. इसके बाद रास्ता खोल दिया, जिससे एकबारगी मामला शांत हुआ. लोगों का आरोप है कि हाल ही में राज्य सरकार के निर्देश पर पावटा फल सब्जी मंडी को भदवासिया में शिफ्ट किया गया. मंडी में सभी फुटकर व्यापारियों भी अपना यहां फुटकर व्यापार कर रहे हैं, लेकिन पिछले 10 दिनों से मंडी प्रशासन के निर्देश पर दिन में 12 बजे से शाम 6 बजे तक बैरिकेड लगाकर मंडी का गेट बंद कर दिया जाता है. 

पुलिस के इस कदम से फुटकर विक्रेताओं को ना केवल परेशानी उठानी पड़ रही है. साथ ही, उनका यहां पर व्यापार करना मुश्किल हो गया है. गेट के बंद होने के कारण पिछले कई दिनों से उनकी फल व सब्जियां भी खराब हो रही है. यहां तक कि दिन में आने वाले किसानों और आम उपभोक्ताओं को भी मंडी में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है. जिससे आमजन और किसानों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. 

लोगों का आरोप है कि किसानों की बेचने के लिए लाई गई सब्जियां और फल खराब हो गए. इसको लेकर आज फुटकर व्यापारियों और आम जन के साथ ही किसानों ने विरोध जताया. इसके बाद यहां तैनात होमगार्ड ने गेट खोल दिया, लेकिन फुटकर व्यापारियों का आरोप है कि मंडी प्रशासन की मनमर्जी के कारण आए दिन व्यापार करने में परेशानी हो रही है.

व्यपारियों की मानें तो पहले तो मंडी प्रशासन ने उन्हें अपना काम व्यवस्थित रूप से करने के लिए बार-बार जगह बदलवाई. इसके बाद मुख्य गेट पर बैरिकेड लगाकर गेट को बंद कर दिया. जिससे उनका माल खराब हो रहा है, साथ ही उन्हें परेशानी का सामना भी करना पड़ रहा है. फुटकर व्यापारी और आमजन समस्या के समाधान की मांग की है.