सलमान से बारी-बारी से मिल रहे थे जेलकर्मी, देख भड़क गए आसाराम, बोले-, 'मुझसे तो कोई मिलने नहीं आता'

दरअसल, सलमान खान को 20 साल पुराने काले हिरण शिकार केस में अदालत ने पांच साल की सजा सुनाई है, जिसके बाद से वह जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद हैं.

सलमान से बारी-बारी से मिल रहे थे जेलकर्मी, देख भड़क गए आसाराम, बोले-, 'मुझसे तो कोई मिलने नहीं आता'
काला हिरण शिकार मामले में पांच साल की सजा मिलने के बाद सलमान खान जोधपुर जेल में बंद हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली/जोधपुर : काला हिरण शिकार मामले में पांच साल की सजा मिलने के बाद जोधपुर जेल में बंद बॉलीवुड स्‍टार सलमान खान की रातें सलाखों के पीछे बेचैनियों के बीच गुजर रही है. सूत्रों के अनुसार, सलमान जेल के भीतर काफी तनाव में हैं. दूसरे दिन भी जेलकर्मी रातभर उनसे मिलने के लिए बैरक में आते रहे. इससे उसी जेल में बंद आसाराम नाराज हो गए और उन्‍होंने जेलकर्मियों से ही कह डाला कि मुझसे तो कभी कोई मिलने नहीं आता.

दैनिक भास्‍कर में प्रकाशित खबर के अनुसार, सजा मिलने के दूसरे दिन सलमान खान देर रात तक अपने बैरक में ही बैठे रहे. वे काफी तनाव में दिख रहे थे. उन्‍होंने जेलकर्मियों से कहा कि काफी ज्‍यादा मच्‍छर होने और उनके काटने के कारण उन्‍हें नींद नहीं आ रही है. लिहाजा, उन्‍हें बैरक संख्‍या दो में शिफ्ट कर दिया गया. इसके बाद जेल प्रहरी और सुरक्षाकर्मी के अलावा ड्यटी वाले नंबरदार बारी-बारी से उनसे मिलने के लिए पहुंच रहे थे. सलमान के बैरक में लग रह भीड़ को देखकर आसाराम नाराज हो गए. उन्‍हें यह बात नागवार गुजरी. आसाराम ने जेलकर्मियों से कहा कि 'मुझसे तो कभी कोई मिलने नहीं आया, फिर उनसे क्यों सेलिब्रिटी के कारण मिलने के लिए आ रहे हो?'

ये भी पढ़ें- सलमान खान ने 9 साल पहले कहा था- मैंने तो हिरण के बच्चे को सिर्फ बिस्किट खिलाए और...

दरअसल, सलमान खान को 20 साल पुराने काले हिरण शिकार केस में अदालत ने पांच साल की सजा सुनाई है, जिसके बाद से वह जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद हैं. इससे पहले भी वह जोधपुर जेल में कैदी रह चुके हैं. जेल में उनकी पहचान कैदी नंबर 343 के रूप में थी. पिछले दो दशकों में सलमान खान ने अभी तक 18 दिन जेल में  बिताए थे. इसी जेल में नाबालिग से यौन शोषण के आरोपी आसाराम भी कैद हैं. मुस्लिम व्‍यक्ति को घायल कर जिंदा जलाने वाला शंभुलाल रैगर भी इस जेल में कैद है. ऐसे में सलमान के जेल जाने के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि उनको आसाराम के पास वाली बैरक में ही रखा जाएगा. दरअसल, इस जेल में सुरक्षित बैरक एक साथ ही बने हुए हैं. इन्हीं में से एक बैरक में सलमान खान को शिफ्ट किया गया. आसाराम यहां पहले से कैद हैं.

ये भी पढ़ें- इस शख्स ने सलमान खान के साथ जेल में गुजारे थे 72 घंटे

साल 2015 में आसाराम ने कहा था कि सजायाफ्ता सलमान खान को जमानत मिल सकती है तो मुझे क्यों नहीं, मैं तो केवल आरोपी हूं. इत्तेफाक की बात यह है कि करीब तीन साल बाद सलमान खान काला हिरण शिकार मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद इसी जोधपुर जेल में पहुंच गए हैं. दरअसल, उस दौरान हिट एंड रन केस मामले में निचली अदालत से सजा मिलने के बाद भी सलमान खान को जेल नहीं जाना पड़ा था. सजा मिलने के चार घंटे के भीतर सलमान खान को बॉम्‍बे हाईकार्ट से जमानत मिल गई थी. इसी को आधार बनाकर आसाराम ने खुद के लिए भी जमानत की मांग की थी. आसाराम साल 2014 से जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद हैं.