Jodhpur ACB की ब्यावर में बड़ी कार्रवाई, नगर परिषद के पार्षद के दो दलालों को दबोचा

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जोधपुर ग्रामीण की टीम ने गुरुवार को ब्यावर शहर में ट्रेप कार्यवाहीं को अंजाम देते हुए निर्माण कार्य को अवैध बताकर पीड़ित से ढ़ाई लाख रूपए की रिश्वत (Bribe) लेते दो प्राईवेट व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है.

Jodhpur ACB की ब्यावर में बड़ी कार्रवाई, नगर परिषद के पार्षद के दो दलालों को दबोचा
प्रतीकात्मक तस्वीर.

ब्यावर (Ajmer) : भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जोधपुर ग्रामीण की टीम ने गुरुवार को ब्यावर शहर में ट्रेप कार्यवाहीं को अंजाम देते हुए निर्माण कार्य को अवैध बताकर पीड़ित से ढ़ाई लाख रूपए की रिश्वत (Bribe) लेते दो प्राईवेट व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है. टीम प्रकरण में लिप्त तीन जनप्रतिनिधियों को गिरफ्तार करने में जुट हुई है जो कार्रवाई के दौरान मौके से फरार हो गए थे. एसीबी की टीम (Jodhpur ACB) ने ट्रैप कार्रवाई के दौरान एक व्यक्ति को मौके से रिश्वत की ढ़ाई लाख रुपए की राशि सहित तथा एक अन्य को थोड़ी दूरी से वहां से भागते हुए को गिरफ्तार किया है. 

यह भी पढ़ें : Rajasthan में तेज हुई सियासी हलचल! Pilot से मिलने पहुंचे 8 करीबी विधायक

गिरफ्तार आरोपियों में डिग्गी मोहल्ला डिग्गी चौक ब्यावर निवासी सुनिल पुत्र राकेश लखारा तथा उड़ान चौक शाहपुरा मोहल्ला भरत पुत्र रमेश मंगल शामिल हैं. रिश्वत प्रकरण में नगर परिषद के पार्षद कुलदीप बोहरा, सुरेन्द्र सोनी तथा अनिल चौधरी भी वांछित हैं, जिन्हें टीम गिरफ्तार करने के प्रयासों में लगी हुई है. उधर शहर में एसीबी की और से की गई ट्रैप (ACB Trap) कार्रवाई की जानकारी मिलते ही शहर में चर्चाओं का बाजार आम हो गया. 

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जोधपुर ग्रामीण अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भोपालसिंह लखावत की और से दी गई जानकारी के अनुसार कृष्णा कोलोनी नेहरू गेट बाहर निवासी परिवादी सीताराम पुत्र जगदीश प्रसाद साहू ने ब्यूरो का शिकायत देते हुए बताया था कि ब्यावर शहर में उसकी दुकान को अवैध बताते हुए नोटिस देकर शहर के तीन पार्षद तथा दो प्राईवेट व्यक्ति तीन लाख रुपए की रिश्वत की मांग कर रहे हैं. शिकायत मिलने के बाद ब्यूरो अधिकारियों ने शिकायत का सत्यापन करवाया तो शिकायत सही पाई गई. इसके बाद परिवादी से मिलकर ट्रेप कार्रवाई को अंजाम देने की योजना बनाई गई. 

यह भी पढ़ें : Pilot से मुलताक के बाद विधायकों के आक्रामक तेवर, मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियां करने की मांग