Pali Khabar: बजरी माफियाओं के साथ पुलिस ठुमके लगाते आई नजर, Video Viral
X

Pali Khabar: बजरी माफियाओं के साथ पुलिस ठुमके लगाते आई नजर, Video Viral

रोहट उपखण्ड क्षेत्र के दिवानदी, कुलथाना, गढ़वाड़ा, चाटेलाव की नदियों को बजरी माफियाओं ने छलनी कर हाथी डूब गड्ढे बना दिए. रात भर नदियों से अवैध खनन के साथ डंपर ओर ट्रक चलते रहते हैं. 

Pali Khabar: बजरी माफियाओं के साथ पुलिस ठुमके लगाते आई नजर, Video Viral

Pali: राजस्थान (Rajasthan) के पाली (Pali news) जिले में बजरी माफिया पुलिस पर इस कदर हावी हैं कि कार्रवाई करना तो दूर पुलिस खुद माफियाओं के साथ साठ-गांठ के साथ पार्टी और ठुमके लगाते नजर आती है. रोहट उपखण्ड क्षेत्र पूरा अवैध बजरी खनन को लेकर चर्चा में है. 

रोहट उपखण्ड क्षेत्र के दिवानदी, कुलथाना, गढ़वाड़ा, चाटेलाव की नदियों को बजरी माफियाओं ने छलनी कर हाथी डूब गड्ढे बना दिए. रात भर नदियों से अवैध खनन के साथ डंपर ओर ट्रक चलते रहते हैं. वहीं, कई बार ग्रामीणों  ने विरोध भी किया तो उनको न केवल जान से मारने की धमकी देते बल्कि मारपीट भी कर लेते थे.

यह भी पढ़ें- Pali में आरोपी की पुलिस कस्टडी में मौत, दो दिन पहले चोरी के आरोप में हुई थी गिरफ्तारी

डांस वीडियो वायरल
रोहट एसडीएम, कलेक्टर और थाने तक लोगों ने अवैध खनन को लेकर शिकायत की परंतु आज तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई. हाल ही, केरला चौकी में अवैध बजरी खनन के माफियाओं के साथ पुलिस कर्मियों का डांस करते हुए वीडियो वायरल (Viral Video) होने के बाद लोगों में पुलिस के साथ बजरी माफियाओं के गठजोड़ की चर्चा जोरों पर है.

अवैध बजरी खनन को रोकने के लिए रोहट थाना के अंतर्गत जेतपुर चौकी प्रभारी मनोहर विश्नोई को लगाया गया लेकिन लगातार रात में अवैध बजरी खनन के माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने पर एक महीना भी नहीं टिक पाए और लाइन का रास्ता देखना पड़ा. 

किसानों ने भुगता खामियाजा
चाटेलाव गांव की नदी को दस किलोमीटर से भी अधिक दूरी तक पूरी छलनी कर दिया और हाथी डूब गड्ढे बना दिए. इस अवैध खनन के कारण किसानों को खामियाजा भुगतना पड़ा और उनके कुंए का जलस्तर नीचे चला गया तो कही जगह पानी ही नहीं रहा. वहीं, इस मामले में लोगों ने कलेक्टर के पास भी शिकायत की लेकिन रोहट उपखण्ड के अधिकारी कोरी कार्रवाई कर इतिश्री कर लेते. 

कुलथाना दिवानदी, गढ़वाड़ा, चाटेलाव के लोगों ने खनन विभाग को भी सोजत में शिकायत की लेकिन इस विभाग से भी कोई अधिकारी नहीं पहुंचा. धड़ल्ले से अवैध बजरी खनन करने और रातभर डंपर और ट्रकों के चलने से ग्रामीणों की नींद भी हराम हो गई. अवैध बजरी खनन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से ग्रामीणों में रोष के साथ आक्रोश भी है लेकिन उनकी पीड़ा को समझने वाला कोई नहीं है.  

वसूली के संगीन आरोप
पीड़ित सब इंस्पेक्टर मनोहर विश्नोई (Inspector Manohar Vishnoi) से ओस वारे में बात की तो पूरी पीड़ा बाहर आ गई और जो खुलासे उसने किए उससे कान खड़े हो गए. सीओ ग्रामीण श्रवण संत और रोहट थानाधिकारी जसवंत सिंग राजपुरोहित पर मासिक बंधी की वसूली ले संगीन आरोप लगाए. साथ ही, सवा लाख रुपये बजरी माफियाओं से अलग-अलग वसूली की गई. 

इधर, जब मनोहर ने माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई शुरू की तो सीओ श्रवण संत ने अपने ऑफिस में बुलाकर न केवल धमकाया बल्कि इन लोगों से दूर रहने की नसीहत भी दे दी. साथ हीं, यह भी कहा कि ये सभी मेरे आदमी हैं.  सीओ ऑफिस से जलील होकर बाहर निकला ही था कि सीआई जसवंत सिंग का फोन आया कि अभी रोहट थाने पहुंचा.

यह भी पढ़ें- शादी नहीं करने की बात पर लड़की ने खाई नींद की गोलियां, टेंशन में लड़के ने दे दी जान

सब इंस्पेक्टर ने थाने में देखा यह नजारा
मनोहर विश्नोई रोहट थाने पहुंचा तो ऑफिस मे दो अंजान आदमी भी बैठे थे.  ज्यो ही विश्नोई ऑफिस में गया तभी एक आदमी बोला कि मुझे जानते हो, मुझे सवाई सिंह राजपुरोहिट कहते हैं, ज्यादा बोला तो रेंज के बाहर फिकवा दूंगा. वहीं, दूसरी ओर पास बैठा दूसरे ने बताया कि मुझे लाला खान कहते हैं. सीआई जसवंत सिंग ने मनोहर विश्नोई को बोला कि सभी सीओ श्रवण संत के आदमी है और डंपर भी इनके हैं. इनसे दूर ही रहना. इस प्रकार एक थाने में सीआई ने ही नहीं बल्कि माफियाओं ने भी एक थानेदार को धमकाया और जलीलकर के बाहर निकाला.

Reporter- Subhash Rohiswal

Trending news