नाबालिग छात्रा के साथ स्कूल में Rape, Principal सहित सभी शिक्षकों को APO के आदेश जारी

मुख्यमंत्री ने विधायक एवं पीसीसी सदस्य उमेद सिंह राठौड़ की सभी मांगों को मानते हुए संबंधित अधिकारियों को तुरंत प्रभाव से कार्रवाई करने के निर्देश दिए. 

नाबालिग छात्रा के साथ स्कूल में Rape, Principal सहित सभी शिक्षकों को APO के आदेश जारी
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Jodhpur: बालेसर उपखंड क्षेत्र (Balesar Subdivision Area) के सरकारी विद्यालय (Government School) में शिक्षकों द्वारा नाबालिग स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म (Rape) करने के मामले में मुख्यमंत्री के निर्देश पर जांच अधिकारी बदल दिया है. प्रधानाध्यापक सहित सभी शिक्षकों को एपीओ करने के आदेश जारी हुए हैं. 

यह भी पढ़ें- शिक्षक ने साथियों के साथ नाबालिग छात्रा का अश्लील वीडियो बनाकर किया Viral, केस दर्ज

गौरतलब है कि ग्राम पंचायत धीरपुरा (Gram Panchayat Dhirpura) में सरकारी विद्यालय में कार्यरत 2 शिक्षकों द्वारा विद्यालय में अध्ययनरत नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म करने के मामले में गोगादेव राजपूत समाज की मांग पर शेरगढ़ विधायक मीना कंवर राठौड़ एवं पीसीसी सदस्य उमेद सिंह राठौड़ के नेतृत्व में समाज का एक प्रतिनिधिमंडल जयपुर पहुंचा. 

यह भी पढ़ें- तार-तार हुई गुरू की गरिमा, छात्रा के साथ एक करता था बलात्कार, दूसरा करता था निगरानी

साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) से वर्चुअल कार्यक्रम में मुलाकात कर विधायक एवं प्रतिनिधि मंडल ने इस प्रकरण में अनुसंधान अधिकारी बदलने, इस प्रकरण को स्पेशल केस ऑफिसर स्कीम में शामिल करने, विद्यालय में सभी शिक्षकों को हटाने तथा पीड़ित बालिका के परिवार को राज्य सरकार की पीड़ित प्रतिकार योजना के तहत आर्थिक लाभ दिलाने की मांग की. 

सीएम ने दिए कार्रवाई करने के निर्देश 
मुख्यमंत्री ने विधायक एवं पीसीसी सदस्य उमेद सिंह राठौड़ की सभी मांगों को मानते हुए संबंधित अधिकारियों को तुरंत प्रभाव से कार्रवाई करने के निर्देश दिए. मुख्यमंत्री के निर्देश पर पुलिस महानिरीक्षक जोधपुर नवज्योति गोगोई (Navjyoti Gogoi) ने मामले में जांच अधिकारी बालेसर पुलिस उप अधीक्षक राजू राम चौधरी को बदलकर आरपीएस पुष्पेंद्र वर्मा को अनुसंधान अधिकारी नियुक्त कर शीघ्र रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं तथा केस ऑफिसर स्कीम में शामिल करने के निर्देश दिए. 

सभी शिक्षकों को एपीओ करने के आदेश जारी 
इस मामले में विधायक एवं प्रतिनिधिमंडल की मांग पर मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला शिक्षा अधिकारी एवं संयुक्त निदेशक जोधपुर प्रेमचंद सांखला ने प्रधानाध्यापक सहित अन्य सभी शिक्षकों को एपीओ करने के आदेश जारी किए तथा उनका मुख्यालय जोधपुर किया गया. इससे पूर्व मामले में दोनों आरोपी शिक्षकों को राजस्थान सिविल सेवा नियम 1958 नियम 13 के तहत निलंबित किया गया है.

Reporter- Arun Harsh