जयपुर: सरकार की कार्यप्रणाली से नाराज मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष टाटिया ने दिया इस्तीफा

राज्य मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष जस्टिस प्रकाश टाटिया वैसे तो इस्तीफे दिए जाने को लेकर अपने निजी कारण बता रहे हैं हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, टाटिया सरकार की कार्यप्रणाली से नाराज थे. 

जयपुर: सरकार की कार्यप्रणाली से नाराज मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष टाटिया ने दिया इस्तीफा
टाटिया ने अपनी नाराजगी मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को भी जता दी थी.

जयपुर: जस्टिस प्रकाश टाटिया (Prakash Chandra Tatia) ने राज्य मानवाधिकार आयोग (Rajasthan Human Rights Commission) अध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा दे दिया है. आयोग अध्यक्ष टाटिया ने अपना इस्तीफा राज्यपाल और मुख्यमंत्री को भेज दिया. टाटिया का कार्यकाल मार्च 2021 तक था. वे इस पद पर 11 मार्च 2016 को नियुक्त किए गए थे.

राज्य मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष जस्टिस प्रकाश टाटिया वैसे तो इस्तीफे दिए जाने को लेकर अपने निजी कारण बता रहे हैं हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, टाटिया सरकार की कार्यप्रणाली से नाराज थे. टाटिया अपनी नाराजगी परिवादों में दिए गए आदेशों के माध्यम से भी व्यक्त कर चुके हैं.

वहीं आयोग के आदेशों पर सरकार की ओर से ध्यान नहीं दिए जाने से वो खफा थे. टाटिया ने अपनी नाराजगी मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को भी जता दी थी. अब नियुक्ति होने तक आयोग सदस्य जस्टिस महेश शर्मा आयोग का कामकाज देखेंगे हालांकि आयोग में पहले से सदस्य का पद खाली चल रहा है.

अध्यक्ष ने कई मामलों में सरकार पर लगाया हर्जाना
अपने कार्यकाल में जस्टिस टाटिया ने कई मामलों में मानव अधिकारों का हनन होने पर सरकार पर जुर्माना भी लगाया. इसके साथ ही आयोग ने तंबाकू की खेती से लेकर संपूर्ण कारोबार पर प्रतिबंध की भी सिफारिश की थी. इसके साथ ही आयोग ने शव रखकर प्रदर्शन करने को लेकर भी आपत्ति जताई थी और सरकार को इसे दंडनीय अपराध घोषित करने की मांग की थी. इसके साथ ही लिव इन रिलेशनशिप के खिलाफ कानून बनाने की सिफारिश भी आयोग की ओर से की गई थी.