राजस्थान में बढ़ते कोविड मरीजों से राज्यपाल चिंतित, कहा- 'ठीक हुए लोग डोनेट करें प्लाज्मा'

राज्यपाल ने कहा कि, कोरोना महामारी से बचाव ही इसका इलाज है. हम लोगों को इस बीमारी से बचने के लिए सावधानियां बरतनी होगी. कोरोना का प्रचंड प्रकोप जारी है.

राजस्थान में बढ़ते कोविड मरीजों से राज्यपाल चिंतित, कहा- 'ठीक हुए लोग डोनेट करें प्लाज्मा'
राज्यपाल ने कहा कि, कोरोना महामारी से बचाव ही इसका इलाज है.

भरत राज/जयपुर: राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि, 'प्रदेश में कोरोना के लगातार होते विस्तार और प्रतिदिन मरीजों की बढ़ती संख्या के प्रति मुझे गहरी चिंता है. कोरोना वैश्विक महामारी का यह विषय अत्यंत चिन्ताजनक है. मैं कोरोना के बारे में राज्य सरकार और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) से लगातार चर्चा कर रहा हूं.'

राज्यपाल ने कहा कि, 'कोरोना महामारी से बचाव ही इसका इलाज है. हम लोगों को इस बीमारी से बचने के लिए सावधानियां बरतनी होगी. कोरोना का प्रचंड प्रकोप जारी है. मंगलवार को रिकॉर्ड 1217 नए रोगी मिले हैं. वहीं 11 मौते भी हुई है. अब राजस्थान में कुल रोगियों की संख्या 54,887 और मौतें 811 तक पहुंच गई हैं.'

कलराज मिश्र ने कहा कि, 'आप सब जानते हैं, यह समय कोरोना महामारी से लड़ने का हैं. हमारी अपनी सुरक्षा अपने हाथों में है. सभी को मास्क पहनना अनिवार्य है. यदि मास्क नहीं हो तो, गमछा, दुपटटा या रूमाल से अपने नाक और मुंह को ढक कर रखें. सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी है. सैनिटाइजर का उपयोग करें. साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें.'
 
उन्होंने कहा कि, 'प्लाज्मा थेरेपी, कोरोना का एक प्रभावी उपचार हैं. प्लाज्मा उसी व्यक्ति का लिया जाता है, जो इस बीमारी से जंग जीतकर ठीक हुआ है. वर्तमान में प्रदेश के लगभग 27 हजार व्यक्ति इस बीमारी से संक्रमित होने के बाद, ठीक हो चुके हैं. कोरोना पर विजय पाए उन सभी व्यक्तियों का मैं आव्हान करता हूं कि, आगे आएं, अपना प्लाज्मा, रक्तदान के माध्यम से दान दें, ताकि कोविड से ग्रसित गम्भीर मरीजों को प्लाज्मा थेरेपी से जीवनदान मिल सके.'

राज्यपाल ने कहा, 'मैं अनुरोध करता हूं कि, कोविड-19 से ठीक हुए अधिक से अधिक व्यक्ति प्लाज्मा दान करें. साथ ही, साथ दूरी बनाएं रखे, मास्क का उपयोग करें एवं हाथों को सैनिटाइज करते रहें.