राजस्थान में धारा 144 लागू, 33 सालों में पहली बार करणी माता का मेला स्थगित

33 साल में यह पहला अवसर है, जब मेला स्थगित किया गया है.

राजस्थान में धारा 144 लागू, 33 सालों में पहली बार करणी माता का मेला स्थगित
वर्ष 1987 में चैत्र नवरात्रि में करणी माता मेला भरना प्रारंभ हुआ था.

जुगल गांधी, अलवर: कोरोना वायरस के असर के चलते प्रदेश में धारा 144 लगा दी गई है. इससे पहले शिक्षा विभाग भी 31 मार्च तक सभी शिक्षण संस्थानों की छुट्टी का ऐलान कर चुका है, वहीं, जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग द्वारा विदेश से आए भारतीयों को होम आइसोलेशन में रख कर नियमित जांच की जा रही है.

इसके अलावा अलवर के होटलों में रुके हुए 13 विदेशी पर्यटकों की भी स्क्रीनिंग कराई गई, जो सभी सामान्य पाए गए. इसके साथ ही अलवर के बालाकिला स्थित करणी माता मंदिर में हर बार नवरात्रि में लगने वाले मेले को भी स्थगित कर दिया गया है.

33 साल में यह पहला अवसर है, जब मेला स्थगित किया गया है. इस मेले का आयोजन चैत्र नवरात्रि में 25 मार्च से 2 अप्रैल तक होना था. वर्ष 1987 में चैत्र नवरात्रि में करणी माता मेला भरना प्रारंभ हुआ था. मेला स्थगित करने का निर्णय जिला कलेक्टर इंद्रजीत सिंह की अध्यक्षता में मेला आयोजन समिति की बैठक में लिया गया.

जिला कलेक्टर ने कोरोना वायरस महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों से अवगत कराते हुए बताया कि करणी माता मेले में बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं. इससे कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की आशंका उत्पन्न हो सकती है.