close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: करणी सेना की चेतावनी, अगर आरक्षण के नियम नहीं बदले तो होगा उग्र आंदोलन

करणी सेना का मानना है कि प्रदेश में सवर्ण आरक्षण लागू होने के बावजूद कुछ नियमों के कारण गरीब सवर्णों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

राजस्थान: करणी सेना की चेतावनी, अगर आरक्षण के नियम नहीं बदले तो होगा उग्र आंदोलन
प्रदर्शन भेरोसिंह शेखावत स्मृति स्थल से शुरू हुआ. (फोटो साभार: फेसबुक)

जयपुर: राजस्थान में करणी सेना ने सोमवार को सवर्ण आरक्षण के नियमों को बदलने की मांग को लेकर विधानसभा का घेराव किया. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने प्रदेश सरकार से गुजरात के तर्ज पर आरक्षण के लागू नियमों में बदलाव की मांग की. साथ ही सवर्णों को भी गुर्जरों को पुरानी भर्तियों पर मिल रहे आरक्षण का लाभ देने की मांग की.

भेरोसिंह शेखावत स्मृति स्थल से शुरू हुआ प्रदर्शन 22 गोदाम तक पहुंचा. इस दौरान करणी सेना ने प्रदेश सरकार को चेतावनी दी कि यदि समय रहते नियमों में संशोधन नहीं हुआ तो उग्र आंदोलन किया जाएगा.

नियमों के कारण हो रही परेशानी
करणी सेना का मानना है कि प्रदेश में सवर्ण आरक्षण लागू होने के बावजूद कुछ नियमों के कारण गरीब सवर्णों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

आंदोलन की दी चेतावनी
इस दौरान राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखबीर सिंह गोगामेडी ने कहा कि अगर सरकार ने समय रहते इस मामले में कार्रवाई नहीं की तो फिर से आंदोलन होगा.

जानिए क्या है आरक्षण से संबंधित नियम
दरअसल, सवर्ण आरक्षण के लागू नियमों के अनुसार, पांच एकड़ से अधिक कृषि भूमि, एक हजार वर्ग फुट से बड़े फ्लैट, नगर निगमों में 100 वर्ग गज या इससे बड़े प्लॉट और गैर-अधिसूचित स्थानीय निकायों में 200 वर्ग गज या इससे बड़े प्लॉट वालों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा.