close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान का यह स्नेक मैन, जिसके लिए सांप पकड़ना है बाएं हाथ का खेल

गाईड के रूप में कार्यरत दुर्ग निवासी अखिलेश पिछले चार वर्षों से दुर्लभ जीवों को बचाने का जतन कर रहे हैं. 

राजस्थान का यह स्नेक मैन, जिसके लिए सांप पकड़ना है बाएं हाथ का खेल
बिना किसी उपकरण के उन्होंने सैंकड़ों सांपों को रेस्क्यू किया है.

चित्तौड़गढ: सांप का नाम सुनते ही अच्छे अच्छों के मन में डर बैठ जाता है. लेकिन राजस्थान के चित्तौड़गढ में एक ऐसा शख्स है, जो बिना साधन के जहरीले से जहरीले सांपों को एक चुटकी में अपने काबू में कर उनके साथ खेलते हुए उन्हें जंगल में छोड़ देता है.

वन विभाग के कर्मचारी जहां वन्य जीवों विशेषकर सांपो को पकड़ने के लिये विभागीय उपकरणों एवं बचाव के सभी संसाधनों के साथ मौके पर पहुंच कार्यवाही करते है, वहीं गाईड के रूप में कार्यरत दुर्ग निवासी अखिलेश टेलर पिछले चार वर्षों से दुर्लभ जीवों को बचाने का जतन कर रहे है. वे बिना किसी उपकरण के अब तक सैकड़ों जहरीले सांपो के साथ ही अजगर, मगरमच्छ, बाज, चिमगादड़, चन्दन गोयरा, गोयरी सहित कई वन्य जीवों को अपने आत्म विश्वास के बलबुते पर पकड़कर वन क्षेत्र में छोड़़ चुके है.

जंगल में सुरक्षित छोड़ हैं सांपों को
टेलर ने मीडिया से बातचीत में बताया कि वे वन्य जीवों के संरक्षण में रुचि लेते हुए निःशुल्क सेवायें देकर सांपो को पकड़ते रहे हैं. उन्होंने कहा, ''सांप सुनता नहीं है केवल गंध से सामने वाले पर आक्रमण करता है. ऐसे में साहस बटोर कर पीछे से उसके फन पर हाथ फेरते हुए पकड़कर डिब्बे में बंद करते हुए उसे जंगल में सुरक्षित छोड़़ दिया जाता है.'' 

करते हैं दुलार
लगातार सांपो के मारने से इनकी प्रजाति कहीं लुप्त न हो जायें, इस भावना के साथ जहां कहीं सांप निकलने की सूचना मिलती है तो मौके पर पहुंचकर उसे पकड़ते हुए सुरक्षित छोड़़ने में विशेष रूचि ले रहे है. इतना ही नहीं सांपों की प्रजाति में सबसे खतरनाक कोबरा सांप को काबू में कर उसे फन को चुमते हुए उसे दुलार भी करने के साथ ही अन्य सांपो के साथ खेलते है. 

स्नेक कैचर भी मिला है नाम
अखिलेश के इस हुनर को देखते हुए उनके साथ भी वन्य प्राणियों की रक्षा में उनका सहयोग करते हैं. अब शहर के लोग इन्हें स्नेक कैचर के नाम से भी पुकारने लगे है. कहीं भी सांप निकलने की सूचना पर अखिलेश तुरंत मौके पर पहुंच कर उसका रेस्क्यू कर जीव और मानव को होने वाले नुकसान से बचाते हैं.