मनरेगा श्रमिकों की जागरुकता के लिए कोटा DM ने उठाया कदम, हर किसी ने की तारीफ

अधिकारियों द्वारा मास्क का उपयोग नियमित रूप से करने, घर में मास्क बनाने की तकनीकी के बारे में भी बताया. 

मनरेगा श्रमिकों की जागरुकता के लिए कोटा DM ने उठाया कदम, हर किसी ने की तारीफ
प्रचार सामग्री के माध्यम से जानकारी देकर प्रश्नोत्तर प्रतियोगिताएं भी करवाई गईं.

कोटा: कोरोना महामारी संक्रमण से बचाव के लिए प्रारंभ किए गए विशेष जागरूकता अभियान के तहत शुक्रवार को जिले में मनरेगा कार्य में लगे 1 लाख से अधिक श्रमिकों को कोरोना जागरूकता के लिए अपनाई जाने वाली सावधानियों की जानकारी दी तथा कोरोना वॉरियर्स की शपथ दिलाई गई.

जिला कलेक्टर ओम कसेरा ने बताया कि जिले में सभी गांवों में मनरेगा कार्यस्थलों पर लगे श्रमिकों को अधिकारियों द्वारा मौका निरीक्षण कर उपस्थित सभी श्रमिकों को कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक उपाय अपनाने के बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मनरेगा श्रमिकों को कोरोना जागरूकता के तहत स्वयं के साथ-साथ दूसरों के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए अपनाई जाने वाली सावधानियों मास्क पहनने, बार-बार हाथ धोने, सामाजिक दूरी बनाए रखने एवं सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकने की आदत को अपने जीवन में शामिल करने के संबंध में शपथ दिलाई गई. 

जिला कलेक्टर ने बताया कि पंचायत समितिवार अधिकारियों को जिम्मेदारी देकर मनरेगा कार्यस्थलों पर कार्यों का निरीक्षण करवाया गया तथा राज्य सरकार द्वारा कोविड जागरूकता अभियान के तहत मनरेगा श्रमिकों को अपनाई जाने वाली सावधानियों के बारे जानकारी दी. 

जरूर रखें सोशल डिस्टेंसिंग
सीईओ जिला परिषद टीकमचन्द्र बोहरा ने पंचायत समिति लाड़पुरा की विभिन्न पंचायतों में चल रहे मनरेगा कार्यों का निरीक्षण किया. ग्राम कसार में उन्होंने श्रमिकों से रूबरू होते हुए कहा कि कोरोना महामारी से बचाव करना हम सब की जिम्मेदारी है. सरकार द्वारा अभियान चलाकर बचाव और सावधानियां बरतने की जानकारी दी जा रही है उसे दैनिक जीवन में अपनाएं. उन्होंने मनरेगा कार्यस्थलों पर सामाजिक दूरी का पालन करने, मास्क अनिवार्य पहनने तथा बार-बार हाथ धोने का आव्हान किया. 

कार्यस्थल पर रखें सावधानी
सीईओ जिला परिषद ने बताया कि इसी प्रकार का जागरूकता अभियान जिलेभर में सभी पंचायत समितियों में चलाया गया, जिसमें विकास अधिकारियों द्वारा कार्यस्थलों पर जाकर कोविड जागरूकता की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मनरेगा श्रमिकों को अपने औजारों का उपयोग करने, कार्यस्थल पर साबुन से हाथ धोने, कार्यस्थल से जाने पर नहाने के बाद ही घर में प्रवेश करने की जानकारी दी. 

अधिकारियों द्वारा मास्क का उपयोग नियमित रूप से करने, घर में मास्क बनाने की तकनीकी के बारे में भी बताया. विकास अधिकारी लाड़पुरा जितेन्द्र सांधु ने भी विभिन्न ग्राम पंचायतों का निरीक्षण किया. विकास अधिकारी सांगोद राजीव तौमर ने बताया कि मनरेगा कार्यस्थलों पर गीतों के माध्यम से तथा जनसम्पर्क विभाग द्वारा प्रचार सामग्री के माध्यम से जानकारी देकर प्रश्नोत्तर प्रतियोगिताएं भी करवाई गई.