कोविड से बचाव के लिए बिरला की पहल, कहा-गांवों में तैयार करेंगे कोरोना योद्धा सैनिक

Kota News: बिरला ने कहा कि कोरोना के ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से फैलाव से वे बेहद चिंतित हैं. संक्रमण को रोकने के लिए आवश्यक है कि सभी कोविड गाइडलाइन की सख्ती से पालन करें.  

कोविड से बचाव के लिए बिरला की पहल, कहा-गांवों में तैयार करेंगे कोरोना योद्धा सैनिक
ओम बिरला ने वीसी के जरिए कार्यकर्ताओं से संवाद किया.

Kota: संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी के ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से पैर पसार रहे कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने एक और पहल की है. बिरला ने कहा कि प्रत्येक गांव में पांच-पांच स्वास्थ्य कोरोना यौद्धा सैनिकों की टीम तैयार की जाएगी. ये स्वास्थ्य कोरोना यौद्धा सैनिक ग्रामीणों के स्वास्थ्य की रक्षा करने के साथ-साथ तथा संक्रमण की चेन तोड़ने, कोविड रोगियों को उपचार प्राप्त करने, उन तक दवाए पहुंचाने में सहायता करने तथा कोविड के प्रति जागरूकता व सजगता लाने का प्रयास करेंगे. इसके लिए उन्होंने युवाओं से आगे आने का भी आव्हान किया है.

गांवों में कोविड फैलना चिंता की बात
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने इटावा क्षेत्र के सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए करीब डेढ़ घंटे बात की. इस दौरान बिरला ने कहा कि कोरोना के ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से फैलाव से वे बेहद चिंतित हैं. संक्रमण को रोकने के लिए आवश्यक है कि सभी कोविड गाइडलाइन की सख्ती से पालन करें.

ये भी पढ़ें-Jaipur पहुंचे 1670 Oxygen Concentrator, CII ने भी दिए 5 हजार N-95 मास्क

CHC में ही मिले प्राथमिक इलाज
बिरला ने सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं से कहा कि इस समय उनकी विशेष जिम्मेदारी बनती है कि वे लोगों को जागरूक तथा सतर्क करें. उन्हें मास्क पहनने, बार-बार हाथ धोने तथा सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए प्रेरित करें. लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि उनका प्रयास है कि ग्रामीणों को सीएचसी स्तर पर ही उपचार की समुचित सुविधाएं उपलब्ध हों. 

गांवों में तैयार होगी 5-5 कोरोना योद्धा सैनिकों की टीम
उन्होंने कहा कि इसके लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, पल्स ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन मास्क, थ्री प्लाई मास्क, एंबुलेंस आदि की सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं. इसके अलावा प्रत्येक गांव में पांच-पांच स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिकों की टीम भी तैयार की जाएगी, जो ग्रामीणों को स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त करने में मदद करेंगी. यह स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिक संक्रमण की चेन तोड़ने में अहम भूमिका निभाएंगे.

कोरोना योद्धा लोगों की इलाज में करेंगे मदद
इन टीमों को पल्सआक्सीमीटर, थर्मोमीटर तथा आवश्यक दवाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी, जिससे वे मरीज की तबीयत बिगड़ने पर उसके ऑक्सीजन के स्तर तथा उसके बुखार को माप सकेंगे. स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिक मरीज को नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र या प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर डॉक्टर या चिकित्सा स्टाफ को दिखाएंगे. उनका पहला प्रयास होगा कि डॉक्टर या चिकित्सा स्टाफ द्वारा बताई गई दवाएं स्वास्थ्य केंद्र से ही दिलवाई जाएं. लेकिन यदि कोई दवा नहीं मिलती है तो वे अपने पास उपलब्ध दवाओं में से मरीज को दवा देंगे.

ये भी पढ़ें-वैचारिक प्रतिबद्धताओं से ऊपर उठकर महामारी के खिलाफ संघर्ष में एकजुट हों: गहलोत

एंबुलेंस की भी मिलेगी सुविधा
यह स्वास्थ्य कोरोना यौद्धा सैनिक संक्रमित रोगियों को क्वारंटीन करने में भी सहयोग देंगे तथा क्वारन्टीन अवधि के दौरान भी उनके स्वास्थ्य पर नजर रखेंगे. बिरला ने कहा कि कोविड रोगियों के लिए प्रत्येक उपखंड स्तर पर एंबुलेंस की व्यवस्था की जा रही है. 

कंट्रोल रूम से करेंगे समन्वय
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिक किसी मरीज के गंभीर होने पर उसे कोटा या अन्य नजदीकी बड़े अस्पताल पहुंचाने की भी व्यवस्था करेंगे. स्वास्थ्य कोरोना योद्धा सैनिक कोटा में स्थापित हेल्पलाइन के कंट्रोल रूम से भी लगातार सम्पर्क में रहेंगे ताकि आवश्यकता होने पर रोगी के उपचार के लिए अन्य व्यवस्थाएं की जा सकें.

(इनपुट-हिमांशु मित्तल)