अवैध संबंधों के शक में पति ने किया बीवी का मर्डर, 2 महीने बाद खुला भेद

कोटा (Kota News) ग्रामीण के दो महीने पुराने मौसमी मीणा (Mausami Meena) हत्याकांड (Murder) का पर्दाफाश हो गया है. 

अवैध संबंधों के शक में पति ने किया बीवी का मर्डर, 2 महीने बाद खुला भेद
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोटा: राजस्थान के कोटा (Kota News) ग्रामीण के दो महीने पुराने मौसमी मीणा (Mausami Meena) हत्याकांड (Murder) का पर्दाफाश हो गया है. पुलिस (Police) की मानें तो पति ने ही अपनी पत्नी (Wife) की गला घोंट कर हत्या की वारदात को अंजाम दिया था. हत्या के बाद लाश (Dead Body) को ठिकाने लगाने के लिए आरोपी पति ने उसे 100 किलोमीटर दूर चम्बल (Chambal) में फेंक दिया था. 

अवैध सम्बन्धों के शक ने हत्यारा बना दिया 
रिश्तों के क़त्ल की इस कहानी का मुख्य किरदार है नरेश मीणा, जिसने अवैध संबंधों (Extramarital Affairs) के शक में अपनी पत्नि मौसमी मीणा की गला घोंट कर सनसनीखेज हत्या कर दी. नरेश ने बर्बरता (Brutal) की हदें पार करते हुए अपनी बीवी के मर्डर के बाद उसकी लाश को चादर में लपेटा और एक बड़े कोरियर के डिब्बे में बन्द करके मौसमी की लाश सवाईमाधोपुर से 100 किलोमीटर दूर कोटा ग्रामीण के गैंता में चम्बल नदी में फेंक कर फरार हो गया. 

ऐसे की पुलिस को गुमराह करने की कोशिश 
मौसमी की मौत के बाद उसके बच्चों ने अपनी मां से मिलने के लिए जिद की तो मौसमी के लापता होने की जानकारी उसके माता-पिता को मिली और फिर घटना के डेढ़ महीने बाद उन्होंने सवाईमाधोपुर के थाने में मौसमी की गुमशुदगी दर्ज करवाई. लेकिन तभी हत्यारे पति नरेश ने अपनी पत्नि मौसमी के मौसा कालू मीणा के खिलाफ मौसमी को भगा ले जाने का मामला दर्ज करवा दिया और फिर पुलिस को यहीं से पहला क्लू मिल गया. 

पुलिस के आगे टूटा आरोपी 
नरेश के दो महीने बाद मौसमी के भागने की रिपोर्ट दर्ज करवाने पर पुलिस ने आरोपी नरेश से पूछताछ शुरू की. पूछताछ में नरेश टूट गया और रिश्तों का गला घोंटने की पूरी कहानी बयां कर दी. मामले का खुलासा करते हुए कोटा ग्रामीण एसपी शरद चौधरी ने बताया कि "घटना दो महीने पुरानी है जिसमें मृतक मौसमी का शव कोटा ग्रामीण के गैंता इलाके में चम्बल नदी में मिला था, मामले में नरेश को गिरफ्तार किया गया है." रिश्तों के क़त्ल को अंजाम देने वाला आरोपी पति नरेश मीणा अब अपनी असली मंजिल यानि सलाखों के पीछे है जो अपने गुनाहों की सज़ा भुगत रहा है. 

STORY- KK SHARMA, KOTA 
EDITED BY- SATENDRA YADAV, @satendradeepu

ये भी पढ़ें: Rajasthan के 33 में से 31 जिलों में घटा Ground Water Level, हो सकती पानी की किल्लत