कोटपुतली: कल्याणपुरा की बेटी इंदु कसाना बनी डॉक्टर, बधाई देने वालों का लगा तांता

कोटपुतली क्षेत्र में इतनी अच्छी रैंक लाने वाली इंदु अकेली अभ्यर्थी है. 

कोटपुतली: कल्याणपुरा की बेटी इंदु कसाना बनी डॉक्टर, बधाई देने वालों का लगा तांता
इंदु ने NEET में अच्छी रैंक हासिल की.

अमित यादव, कोटपुतली : शहर के पास कल्याणपुरा गांव की बेटी इंदु कसाना ने आज बड़ा मुकाम हासिल किया है. इंदु ने NEET 2020/21 में ऑल इंडिया स्तर पर सामान्य वर्ग में 11460वीं और ओबीसी में 4332 वीं रैंक हासिल की है. 

माना जा रहा है कि कोटपुतली क्षेत्र में इतनी अच्छी रैंक लाने वाली इंदु अकेली अभ्यर्थी है. परिणाम की घोषणा के बाद से ही इंदु को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. आसपास के गांवों से रिश्तेदार और मिलने वाले लोग सुबह से ही घर पहुंचने लगे. 

यह भी पढ़ें- CM गहलोत ने साधा BJP पर निशाना, बोले- PMO ने मंगवाए हैं उनके भाषणों के टेप

इंदु ने बताया कि उनके माता-पिता और चाचाओं ने उन्हें बचपन से ही डॉक्टर बनने के लिए प्रेरित किया. इंदु कसाना ने दसवीं तक की शिक्षा गांव में और 12वीं की शिक्षा पावटा से अर्जित की. इसके बाद मेडिकल की तैयारी के लिए वो सीकर चली गई. अपने दूसरे ही प्रयास में इंदु कसाना ने अच्छी रैंक हासिल कर परिवार के साथ ही गांव का नाम भी रोशन कर दिया. 

परिवार के लिए अक्टूबर का ये महीना तिहरी खुशी लेकर आया है. इंदु ने NEET में अच्छी रैंक हासिल की, उनके पिता यादराम गुर्जर का दिल्ली पुलिस में सहायक सब इंस्पेक्टर पद पर प्रमोशन हुआ और 2 हफ्ते पहले ही उनकी दादी बादामी देवी ने पंचायत चुनाव में सरपंच पद पर जीत हासिल की है.