राजस्थान: बैंक ने किसानों को लोन न देने का आदेश लिया वापस

अपेक्स बैंक के प्रबंध निदेशक इन्दर सिंह ने राज्य के 29 केन्द्रीय सहकारी बैंकों को निर्देश दिए हैं कि किसानों को अगस्त तक 10 हजार करोड़ के अल्पकालीन फसली ऋण खरीफ सीजन में वितरित होंगे. 

राजस्थान: बैंक ने किसानों को लोन न देने का आदेश लिया वापस
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: जी मीडिया पर खबर दिखाए जाने के बाद में अपेक्स बैंक ने अपना आदेश वापस ले लिया है. किसानों के कर्ज पर रोक लगाए जाने वाले आदेश को अपेक्स बैंक ने वापस ले लिया है. अब प्रदेश के लाखों किसानों को 16 हजार करोड़ के फसली ऋण मिलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

एक आदेश से मरूधरा के लाखों किसानों में खलबली मच गई थी. कर्ज देने की रोक के बाद में लाखों किसानों के पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई थी लेकिन एक आदेश के बीच किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी निकलकर सामने आई है. अब किसानों को अल्पकालीन फसली ऋण योजना के जरिए कर्ज मिल सकेगा. 

अपेक्स बैंक के प्रबंध निदेशक इन्दर सिंह ने राज्य के 29 केन्द्रीय सहकारी बैंकों को निर्देश दिए हैं कि किसानों को अगस्त तक 10 हजार करोड़ के अल्पकालीन फसली ऋण खरीफ सीजन में वितरित होंगे. एमडी ने पिछला आदेश फिर से जारी किया हैं यानि अब किसानों को फसली ऋण मिलने की प्रक्रिया शुरू हो पाएगी.

राज्य सरकार के निर्देश के अनुसार इस वित्तीय वर्ष में 10 लाख नये किसानों को भी नये ऋण वितरण से जोड़ा जाएगा.सभी केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशकों को निर्देशित किया गया है कि किसानों को डीजिटल मेम्बर रजिस्टर के माध्यम से ही ऋण वितरण की प्रक्रिया को सुनिश्चित करें. इसके अलावा ये भी निर्देश दिए हैं कि किसानों को काश्त के लिए दिए जाने वाले फसली ऋण में किसी प्रकार की परेशानी न आए. अपेक्स बैंक के इस दावे में कितनी सच्चाई है ये तो आने वाले दिनों में पता लग जाएगा,लेकिन एक आदेश में पूरी सहकारी विभाग पर बडे सवाल खडे कर दिए है.