जयपुर: शहरी रण की तस्वीर साफ, हैरिटेज में 38 और ग्रेटर में 56 वार्डों में फंसा सीधा या त्रिकोणिय पेंच

जयपुर नगर निगम चुनाव (Local Body Election) में नाम वापसी और चुनाव चिन्ह आवंटन के साथ ही तस्वीर साफ हो चुकी है. 

जयपुर: शहरी रण की तस्वीर साफ, हैरिटेज में 38 और ग्रेटर में 56 वार्डों में फंसा सीधा या त्रिकोणिय पेंच
फाइल फोटो

जयपुर नगर निगम चुनाव (Local Body Election) में नाम वापसी और चुनाव चिन्ह आवंटन के साथ ही तस्वीर साफ हो चुकी है. नगर निगम हैरिटेज और ग्रेटर में इस बार मुकाबला दिलचस्प होगा यानि की कांटे की टक्कर का रहेगा. चुनाव चिन्ह आवंटन के साथ प्रत्याशियों का अपने-अपने वोटर के बीच पहुंचना शुरू हो गया है. अब 250 वार्डों में 1116 प्रत्याशी मैदान में रह गए हैं. इनमें ग्रेटर के 150 वार्डों में 686 और हैरिटेज के 100 वार्डों में 430 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमाएंगे. इस बार चुनाव मैदान में 250 वार्डो में से 94 वार्डो में या तो सीधा दो उम्मीदवारों के बीच मुकाबला है या त्रिकोणिय.

ये भी पढ़ें: कृषि कानूनों पर बुलाया जाएगा विशेष सत्र, गहलोत बोले-सरकार लाएगी संशोधन बिल

जयपुर नगर निगम हैरिटेज और ग्रेटर के 250 वार्डो में 1116 प्रत्याशी चुनावी मैदान में डटे हुए हैं. अब हैरिटेज के 100 वार्डों में 430 और ग्रेटर के 150 वार्डों 686 प्रत्याशी रह गए हैं. कांग्रेस और भाजपा नेताओं की मान मनोव्वल के बाद 213 प्रत्याशी नामांकन वापस लेकर मैदान छोड़ गए. भाजपा के 245 और कांग्रेस के 247 वार्डों में प्रत्याशी रह गए हैं. चुनाव में 31 वार्ड ऐसे हैं जहां 2-2 प्रत्याशी रह गए हैं. यहां दोनों के बीच सीधा मुकाबला है. इनमें से 29 वार्डों में कांग्रेस-भाजपा के बीच और 2 वार्डों में कांग्रेस का मुकाबला निर्दलीय से हैं.

सबसे रोचक बात है कि नगर निगम ग्रेटर के दो वार्ड संख्या 58 और 56 ऐसे हैं, जहां बीजेपी के प्रत्याशी नहीं है. यहां सिर्फ दो नामांकन आए हैं. ऐसे में इन वार्डों में कांग्रेस और निर्दलीय प्रत्याशी के बीच टक्कर रहेगी. इनमें अलावा 64 वार्डों में त्रिकोणीय संघर्ष की स्थिति बन गई है. जिन वार्डों में सीधा मुकाबला है, उनमें हैरिटेज के 10 वार्ड और ग्रेटर के 21 वार्ड हैं. ऐसे में मतदाताओं के लिए तो ये चुनाव दिलचस्प हो ही गया है, लेकिन चुनाव लडने वाले उम्मीदवारों और उनके समर्थकों के लिए एक बडी चुनोती बन गया है.

नगर निगम ग्रेटर निगम
कुल वार्ड – 150 वार्ड
प्रत्याशी मैदान में - 686
नाम वापस लिया - 136
सीधा मुकाबला - 21 वार्डों में
त्रिकोणीय मुकाबला - 35 वार्डों में
चतुष्कोणीय मुकाबला - 27 वार्डों में
5 या इससे अधिक में मुकाबला - 62 वार्डों में
10 या इससे अधिक में मुकाबला - 5 वार्डों में

..............................
नगर निगम हैरिटेज निगम
कुल वार्ड -100
कुल प्रत्याशी मैदान में - 430
नाम वापस लिया - 77
सीधा मुकाबला-10 वार्डों में
त्रिकोणीय मुकाबला - 29 वार्डों में
चतुष्कोणीय मुकाबला - 26 वार्डों में
5 या इससे अधिक प्रत्याशी - 35 वार्डों में
10 या इससे अधिक – किसी वार्ड में नहीं
.....................................................
इन वार्डो संख्या में आमने-सामने की सीधी टक्कर
नगर निगम हैरिटेज: वार्ड 2, 8, 9, 37, 53, 59, 73, 82, 85, 88
नगर निगम ग्रेटर: वार्ड 24, 33, 50, 54, 56, 58, 62, 73, 74, 75, 76, 79, 97, 98, 109, 116, 128, 136, 139, 143, 147
.....................................................
इन वार्डो में होगा त्रिकोणिय मुकाबला
नगर निगम हैरिटेज: वार्ड 1, 4, 10, 13, 14, 20, 25, 35, 46, 47, 49, 51, 54, 62, 63, 64, 66, 67, 68, 87, 91, 92, 93, 94, 95, 96, 99, 100
नगर निगम ग्रेटर: वार्ड 8, 12, 25, 28, 34, 46, 49, 51, 52, 55, 60, 61, 65, 67,72, 77, 81, 82, 83, 85, 86, 91, 93, 94, 96, 105, 106, 119, 125, 129, 130, 131, 140, 141, 149

राजस्थान में चुनावों दो ही प्रमुख पार्टियों कांग्रेस और बीजेपी का वजूद हैं, लेकिन इन चुनावों में जयपुर नगर निगम हैरिटेज में तीन ऐसे वार्ड 6, 7 में बीजेपी और 89 कांग्रेस का उम्मीदवार ही मैदान में नहीं है. वहीं, जयपुर नगर निगम ग्रेटर के वार्ड संख्या 56, 58 और 134 में भाजपा और वार्ड संख्या 133 और 135 में कांग्रेस उम्मीदवार चुनाव मैदान से बाहर है. बताया जा रहा है कि नामांकन भरने में देरी करने, आपराधिक मामला दर्ज होने और टिकट फाइनल में देरी होने के कारण इन वार्डो में पार्टी उम्मीदवार नहीं आए.

बहरहाल, नगर निगम चुनावों में उतरने वाले प्रत्याशियों ने प्रचार तेज कर दिया है. प्रत्याशियों ने डोर टू डोर जाना शुरू कर दिया है और देर शाम को भी प्रचार का सिलसिला जारी है. प्रत्याशी देर शाम को लोगों के घरों में जाकर वोट मांग रहे हैं. वहीं, प्रत्याशियों के प्रचार में विधायक भी पूरी तरह से मैदान में डटे हुए हैं.

ये भी पढ़ें: राजस्थान रोडवेज घाटे की स्थिति से उबारने के लिए CM गहलोत ने दिया अहम आदेश, कहा...