कोटा में कोरोना बरसा रहा कहर, प्रशासन ने 4 और 5 अगस्त को लगाया लॉकडाउन

गंभीर बीमार व्यक्ति चिकित्सक की पर्ची के साथ अस्पताल में आ-जा सकेंगे.

कोटा में कोरोना बरसा रहा कहर, प्रशासन ने 4 और 5 अगस्त को लगाया लॉकडाउन
गंभीर बीमार व्यक्ति चिकित्सक की पर्ची के साथ अस्पताल में आ-जा सकेंगे.

कोटा: जिले में कोरोना (Corona) के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए शहर में 4 और 5 अगस्त को लॉकडाउन का फ़ैसला लिया गया है, वहीं, साप्ताहिक लॉकडाउन रविवार को यथावत रहेगा.

टैगोर हॉल में जिला कलक्टर उज्ज्वल राठौड़ की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया. इस दौरान दूध डेयरी, सब्जी सप्लाई, अस्पताल, नर्सिंग होम, पेट्रोल पंप जैसी आवश्यक सेवाएं, निरन्तर उत्पादन प्रकृति की उत्पादन इकाइयों, रात्रिकालीन चलने वाली फैक्ट्रियों, पशु चिकित्सालय लॉकडाउन से अप्रभावित रहेंगी. गंभीर बीमार व्यक्ति चिकित्सक की पर्ची के साथ अस्पताल में आ-जा सकेंगे.

यह भी पढ़ें- कोटा में फिर टूटा कोरोना मरीजों का आंकड़ा, शनिवार को आए 217 नए केस

इस दौरान शहर में सार्वजनिक यातायात और मिनी बस, ऑटो, टेम्पों सेवाएं बंद रहेंगी. रोगियों के लिए परिवहन, एंबुलेंस, ऑन ड्यूटी सरकारी वाहन, अग्नि शमन वाहन, कानून व्यवस्था के वाहन तथा आपातकालीन सेवाओं के वाहनों की आवाजाही यथावत रहेगी. 

यह भी पढ़ें- राजस्थान में शनिवार को टूटा कोरोना मरीजों का रिकॉर्ड, एक दिन में आए 1160 नए केस

केन्द्र और राज्य सरकार के अधीन सरकारी कार्यालय में कार्मिक आईडी कार्ड के साथ प्रातः 9 से 11 बजे और सायं 5 से 7 बजे तक आ-जा सकेंगे. अति आवश्यक कार्य से शहर से बाहर जाने वाले व्यक्तियों को किसी प्रकार के पास की आवश्यकता नहीं होगी, जबकी शहर में आवागमन प्रतिबंधित रहेगा. 

शहर की थोक सब्जीमंडी में अब केवल थोक सब्जी क्रेता ही आ सकेंगे. आमजन और फुटकर विक्रेताओं का प्रवेश बंद रहेगा. शराब की दुकान आबकारी विभाग के नियमानुसार खुली रहेंगी. शहर के पार्कों में प्रातः 9 बजे तक कोरोना प्रोटोकॉल की पालना के साथ भ्रमण किया जा सकेगा, उसके बाद बंद रहेंगे.