रामलला भूमि पूजन के साथ छोटीकाशी में जलेंगे सवा लाख दीपक, कुम्हारों की हुई दीवाली

छोटी काशी शहर में भी सवा लाख दीपक से दीपमाला का नज़ारा दिखेगा. 

रामलला भूमि पूजन के साथ छोटीकाशी में जलेंगे सवा लाख दीपक, कुम्हारों की हुई दीवाली
छोटी काशी शहर में भी सवा लाख दीपक से दीपमाला का नज़ारा दिखेगा.

रौनक व्यास, बीकानेर: पांच अगस्त के दिन का इंतज़ार पूरे 130 करोड़ देशवासियों को हमेशा से रहा है. अब वो वक़्त, वो घड़ी आ गई है, जब मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के जन्म स्थल अयोध्या में भव्य मंदिर की भूमि पूजन के साथ नींव रखी जाएगी. 

इसी के साथ तैयारियां अब अयोध्या से लेकर देश के सभी शहरों में देखने को मिल रही हैं, वहीं, छोटी काशी शहर में भी सवा लाख दीपक से दीपमाला का नज़ारा दिखेगा. 

हजारों दीपकों से अयोध्या जगमगाएगा. दीपक से एक प्रकाश, एक रोशनी और एक नई शुरुआत की शुरुआत होगी. 5 अगस्त को राम लला के भव्य मंदिर के निर्माण की नींव रखी जाएगी. इसी बीच इस दिन को लेकर दीपक बनाने वाले कुम्हार समाज के लिए अच्छे दिन आ गए हैं, जहां 5 अगस्त को अब शहर में लोग अपने अपने स्तर पर दीपक से रोशनी करेंगे तो वहीं, उन दीपक बनाने वाले कुम्हारों को अब दीपक बनाने के ऑर्डर मिल रहे हैं. साल में दिवाली का एक त्योहार आता है, जब इन्हें बड़ी तादात में दीपक बनाते हैं लेकिन शायद ऐसा पहली बार है, जब दीवाली की तरह इन्हें अब दीपक बनाने के ऑर्डर मिल रहे हैं.

दीपक बनाने वाले कुम्हार भंवर कहते हैं कि उन्हें सिर्फ़ 5 अगस्त के दिन को लेकर अभी तक एक लाख से अधिक दीपक बनाने के ऑर्डर मिल चुके हैं और उसको लेकर दिन रात काम में जुटे हैं तो वहीं, ख़रीददार मनोज तंवर उन लोगों में से हैं, जिन्होंने दस हज़ार दीपक का ऑर्डर दिया है, जो सिर्फ़ पांच अगस्त को लेकर हैं यानी ऐसे कई लोग हैं, जो इस ख़ास दिन को अपने अपने तरीक़े से त्योहार के रूप में बनाने को तैयार हैं.
पूरे देश के लिए यहां के स्थानीय लोगों से लेकर साधु-संतों के लिए ये दिन बेहद ख़ास हैं और तैयारियां ज़ोरों पर है. इंतज़ार है अब उस पल का, जब विधि विधान के साथ भगवान राम के मंदिर का भूमि पूजन होगा.