राजस्थान सरकार के अनुभवों का फायदा लेगा महाराष्ट्र, जल्द होगी किसानों की कर्जमाफी

सहकारिता रजिस्ट्रार नीरज के पवन ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राजस्थान सरकार द्वारा राज्य के सहकारी बैंकों से जुडे़ 20.30 लाख किसानों के ऋण माफ किए थे. 

राजस्थान सरकार के अनुभवों का फायदा लेगा महाराष्ट्र, जल्द होगी किसानों की कर्जमाफी
गहलोत सरकार ने किसानों को लगभग 15 हजार करोड़ रूपये की ऋण माफी प्रदान की है.

आशीष चौहान/जयपुर: महाराष्ट्र में गठबंधन की सरकार के बाद में किसानों की कर्जमाफी का बड़ा फैसला लिया है. अब महाराष्ट्र सरकार गहलोत सरकार की तर्ज पर किसानों का कर्ज माफ करने जा रही है.इसके लिए महाराष्ट्र से 3 आईएएस समेत 6 अधिकारियों का दल कल जयपुर पहुंचेगा. 

राजस्थान की कृषक ऋण माफी योजना को पारदर्शी और प्रभावी ढंग से लागू कर वास्तविक किसानों को लाभ पहुंचाने, क्रियान्वयन के अध्ययन एक दल करेगा. खबर के मुताबिक, महाराष्ट्र के प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता आभा शुक्ला, प्रमुख शासन सचिव, सूचना प्रौद्योगिकी एस.वी.आर श्रीनिवास, शासन सचिव, कृषि एकनाथ डावले सहित 6 सदस्यीय अध्ययन दल अपेक्स बैंक में राजस्थान कृषक ऋण माफी योजना का अध्ययन करेगा.

सहकारिता रजिस्ट्रार नीरज के पवन ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राजस्थान सरकार द्वारा राज्य के सहकारी बैंकों से जुडे़ 20.30 लाख किसानों के ऋण माफ किए थे. जिसमें किसानों का लगभग 8 हजार करोड़ रूपये का फसली ऋण माफ किया है. वर्ष 2018 और 2019 की ऋण माफी पर वर्तमान सरकार ने किसानों को लगभग 15 हजार करोड़ रूपये की ऋण माफी प्रदान की है.

केन्द्रीय सहकारी बैंकों एवं भूमि विकास बैंकों के आर्थिक रूप से संकटग्रस्त्त सीमान्त, लघु किसानों के 2 लाख रूपये के अवधिपार खातों के समस्त बकाया कृषि ऋण माफ कर रहन रखी भूमि को रहन मुक्त करने का भी निर्णय लिया है. जिसके कारण राज्य के लगभग 70 हजार किसानों की लगभग 4 लाख बीघा भूमि रहन मुक्त होकर किसानों के नाम पुनः दर्ज हो रही है.

इससे पहले राजस्थान सरकार ने भी तीन राज्यों का दौरा कर वहां की योजनाओं का अध्ययन किया था, ताकि किसानों को अधिक से अधिक लाभ मिले.अब महाराष्ट्र सरकार गहलोत सरकार के अनुभवों का लाभ ले रही है.