भीलवाड़ा: 4500 किसानों के लाखों रुपए गबन करने वाला शख्स गिरफ्तार, पूछताछ शुरू

थानाधिकारी ने बताया कि विगत वर्ष 10 अक्टूबर को समिति के अध्यक्ष रामेश्वर लाल जाट ने एक रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसमें समिति में बड़े स्तर पर आपदा प्रबंधन की राशि में गबन की आशंका है.

भीलवाड़ा: 4500 किसानों के लाखों रुपए गबन करने वाला शख्स गिरफ्तार, पूछताछ शुरू
4500 किसानों के लाखों रुपए गबन करने वाला शख्स गिरफ्तार हो गया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिलाशाद खान/भीलवाड़ा:  भीलवाड़ा के मांडल कस्बे में संचालित सहकारी समिति में करीब 4500 किसानों के लाखों रुपए का गबन कर समिति के मुख्य दस्तावेजों पर ताला जड़ फरार होने वाला व्यवस्थापक को गिरफ्तार कर लिया गया. थानाधिकारी राजेंद्र कुमार गौदारा ने बताया कि विगत वर्ष 10 अक्टूबर को समिति के अध्यक्ष रामेश्वर लाल जाट ने एक रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसमें समिति में बड़े स्तर पर आपदा प्रबंधन की राशि में गबन की आशंका है.

इस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर अनुसंधान अधिकारी एएसआई प्रताप सिंह राठौड़ को नियुक्त कर कार्रवाई शुरू की. एएसआई राठौड़ ने बताया कि गबन की जांच में सबसे पहले सेंट्रल कॉपरेटिव बैंक के अधिशाषी अधिकारी आशुतोष मेहता द्वारा की गई जांच रिपोर्ट चेकों द्वारा प्राप्त की गई राशि, बैंक स्टेटमेंट तथा वार्षिक बैलेंसशीट के साथ अन्य उपलब्ध दस्तावेजो के आधार पर अनुसंधान किया गया.

इसमें क्षैत्रभर के करीब 4500 काश्तकारों को आपदा प्रबंधन के दौरान मिलने वाली राशि करीब 35 लाख 23 हजार 632 की राशि जो की समिति के बैंक खाते से तो निकाल ली गई, किंतु उसका काश्तकारों को भुगतान नहीं किया गया. इसी तरह समिति द्वारा वितरण के लिए आई दवाओं में करीब 5 लाख 87 हजार 219 की दवाओं का स्टॉक कम गया. 

मामले में दोषी पाए जाने पर आरोपी गौरीशंकर शर्मा निवासी पुर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से कोर्ट ने उसे पुलिस रिमांड पर भेजा है. पुलिस फिलहाल आरोपी से पूछताछ कर रही है. वहीं, समिति के अध्यक्ष का कहना है कि हजारों की तादाद में कास्तकारों का पैसा अटका पड़ा है जिससे कास्तकारों में रोष व्याप्त है. जांच में दोषी पाए गए व्यवस्थापक से यह राशि वसूल कर कास्तकारों को भुगतान कराया जाना चाहिए.