हनुमानगढ़: नगर परिषद की लापरवाही बनी एक और मौत का कारण, खुले चैंबर ने ली व्यक्ति की जान

 हैरानी की बात यह है कि नगर परिषद के जिम्मेदारों के कारण हुए हादसे के बारे में हादसे के 4 घंटे बाद तक स्थानीय निकाय के प्रशासन और अधिकारी घटना से अनभिज्ञता जाहिर करते रहे. 

हनुमानगढ़: नगर परिषद की लापरवाही बनी एक और मौत का कारण, खुले चैंबर ने ली व्यक्ति की जान
सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को नाले से निकलवा जिला चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया.

मनीष शर्मा, हनुमानगढ़: टाउन थाना क्षेत्र के टिब्बी रोड पर सफाई के बाद नाले के खुले पड़े चैंबर में गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई. इसकी सूचना टाउन पुलिस को दी गई. सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को नाले से निकलवा जिला चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया.

वहीं हैरानी की बात यह है कि नगर परिषद के जिम्मेदारों के कारण हुए हादसे के बारे में हादसे के 4 घंटे बाद तक स्थानीय निकाय के प्रशासन और अधिकारी घटना से अनभिज्ञता जाहिर करते रहे. 

नगर परिषद कमिश्नर शैलेंद्र गोदारा ने घटना की जानकारी होने से इनकार कर दिया, वहीं स्वच्छता निरीक्षक प्रेमलता का कहना है कि व्यक्ति वह नाले में नहीं नाले के पास गिरा था, जिसके बाद ज़ी मीडिया के वीडियो उपलब्ध करवाने के बाद कोई साफ जवाब जवाब देह नहीं दे पाए. व्यक्ति की मौत नाले में गिरने से हुई है, जिसे स्थानीय लोगों ने बाहर निकलवाया था. 

स्थानीय पार्षद भंवरलाल ने नगर परिषद प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि यह हादसा नगर परिषद की लापरवाही के चलते हुआ है. सफाई कर्मी नाले की सफाई के बाद चैंबर खुले छोड़ जाते हैं, जो कि हर वक्त हादसे को निमंत्रण देते हैं. पहले भी ऐसी ही एक दुर्घटना में एक बच्चे की मौत हो चुकी है लेकिन नगर परिषद प्रशासन का लापरवाह रवैया बदस्तूर जारी है, जो की बड़ी चिंता का विषय है. अगर इस हादसे के बाद भी नगर परिषद प्रशासन ने अपनी कार्यशैली में सुधार नहीं किया तो वे स्थानीय लोगों के साथ मिलकर नगर परिषद पर धरना लगाकर आंदोलन करेंगे.