close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान बाढ़ का कहर जारी, नदी किनारे बसे कई गांवों से संपर्क कटा

धौलपुर के चम्बल नदी में लगातार पानी की आवक के कारण नदी खतरे के निशान से काफी ऊपर तेज बह रही है. जिसके कारण नदी किनारे बसे कई गांवों से संपर्क कट गया है. 

राजस्थान बाढ़ का कहर जारी, नदी किनारे बसे कई गांवों से संपर्क कटा
कई क्षेत्रों में हो रही बरसात से मुख्य रास्तों सहित निचले इलाकों में रास्ते जलमग्न हो गए हैं.

राजस्थान: प्रदेश के कई संभाग में बरसात का दौर जारी है. कई इलाकों में आज सुबह चार बजे से ही शुरू हुई बरसात अभी तक जारी है. हालांकि सुबह से बरसात होने से गर्मी व उमस से लोगो को राहत मिली. बारिश होने से मौसम सुहावना हो गया, लेकिन कई क्षेत्रों में हो रही बरसात से मुख्य रास्तों सहित निचले इलाकों में रास्ते जलमग्न हो गए हैं. वहीं धौलपुर के चम्बल नदी में लगातार पानी की आवक के कारण नदी खतरे के निशान से काफी ऊपर तेज बह रही है. जिसके कारण नदी किनारे बसे कई गांवों से संपर्क कट गया है. 

फतेहपुर शेखावाटी में क्षेत्र में भी हो रही बरसात से मुख्य रास्तों सहित निचले इलाकों में रास्ते जलमग्न हो गए हैं. बरसात होने से फतेहपुर के छतरिया बस स्टैंड, बावड़ी गेट बस स्टैंड, पुराना सिनेमा हॉल तिराहा, मंडावा रोड, नवलगढ़ रोड रेलवे पुलिया, मंडावा रोड रेलवे पुलिया के नीचे भी बरसाती पानी जमा हो गया है. बरसाती पानी जमा होने से छतरिया बस स्टैंड पर दुकानों में पानी घुस गया है. बस स्टैंड को कोतवाली तिराहे पर स्थानांतरित किया गया है. मुख्य रास्तों सहित निचले इलाकों में बरसाती पानी जमा होने से आमजन को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. नगरपालिका प्रशासन के पानी निकासी के दावे फेल हो गए हैं. अनेक जगह पर भरे बरसाती पानी से आवागमन बाधित सा हो गया है.

वहीं प्रतापगढ़ जिले में बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है. पिछले चार-पांच दिन से लगातार बारिश से जिले के सभी नदी-नाले उफान पर है. धरियावद उपखंड के लोदिया पंचायत में वडोर नदी उफान पर है. जिससे मुंगाना का संपर्क टूट गया है. कई लोग पुल पर फंसे हुए हैं, तो कई लोग जान जोखिम में डालकर पुलिया को पार कर रहे हैं. ग्रामवासियों ने कई बार प्रशासन से वडोर नदी की पुलिया की ऊंचाई बढ़ाने के लिए कहा है, लेकिन किसी ने भी इस पर ध्यान नहीं दिया. हर साल बारिश में ऐसे ही दृश्य देखने को मिलते हैं. बाइक सवार इसी तरह से रिस्क लेकर पुलिया पार करते हैं. कई बार दुर्घटनाएं भी हो जाती है.

यहां तक कि पुष्कर सरोवर के जलस्तर में  भी बारी बारिश से 10 फिट का इज़ाफ़ा हो चुका है. यदि कुछ घंटे लगातार जारी रही बारिश तो बाढ़ के हालात बन जाएंगे. वहीं अजमेर में लगातार दूसरे दिन भी बारिश का दौर जारी है जिसके चलते बारिश आफत बन गई है कई निचले इलाकों में बारिश का पानी भर गया है. शहर के वैशाली नगर इलाके के साथ ही सागर विहार आम का तालाब नया बाजार रेलवे स्टेशन कचहरी रोड सहित विभिन्न इलाकों में 20 घंटे से अधिक समय से हो रही बारिश ने लोगों को बेहाल कर दिया है. लगातार हो रही बारिश के बाद कई इलाकों में बिजली को भी बंद कर दिया गया है हालांकि इस दौरान किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

जबकि कई इलाकों में तो कमर तक पानी बह रहा है इसके चलते लोगों का घर से बाहर निकलना भी दूभर हो गया है. बारिश के चलते तमाम दुकानें बंद है और कई इलाकों में तो कर्फ्यू जैसे हालात बने हुए हैं. लगातार बारिश के चलते देर रात को ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह को जोड़ने वाली वीआईपी नई सड़क पर पहाड़ का मलबा ढह गया जिसके चलते रोड बाधित हो गई. लगातार हो रही बारिश के बाद जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है.