केकड़ी: बाड़े में अचानक लगी आग, 50 ट्रॉली से ज्यादा चारा जलकर राख

ग्रामीणों ने आग की सूचना केकड़ी पुलिस (Kekri Police) को भी दी. मौके पर दमकल भी भेजी गई लेकिन तब तक 50 ट्रॉली से अधिक चारा जलकर राख हो गया. 

केकड़ी: बाड़े में अचानक लगी आग, 50 ट्रॉली से ज्यादा चारा जलकर राख
गांव के बीच में बाड़ा होने के कारण आग की लपटें देखकर मौके पर चीख-पुकार मच गई.

मनवीर सिंह, केकड़ी: सोमवार तड़के सुबह समीपवर्ती गांव जालिया में आग (Fire) लग जाने से अफरा-तफरी का माहौल हो गया. गांव के बीच में बाड़ा होने के कारण आग की लपटें देखकर मौके पर चीख-पुकार मच गई.

ग्रामीणों ने आग की सूचना केकड़ी पुलिस (Kekri Police) को भी दी. मौके पर दमकल भी भेजी गई लेकिन तब तक 50 ट्रॉली से अधिक चारा जलकर राख हो गया. गनीमत यह रही कि ग्रामीणों ने अपने स्तर पर प्रयास करके आग को आगे नहीं बढ़ने दिया वरना पूरा गांव जलकर खाक हो जाता.

दरअसल, जालिया निवासी हरलाल गुर्जर के बाड़े में रखे चारे में अचानक आग लग गई. आग की लपटें देखकर ग्रामीण आग बुझाने के लिए दौड़ पड़े और कुएं में इंजन लगाकर आग बुझाने का प्रयास किया लेकिन आग ने विकराल रूप ले लिया. इसके चलते आगे से आगे बढ़ती गई, जिससे लाखों रुपये का नुकसान हो गया. 

खबर लिखे जाने तक केकड़ी से आई हुई दमकल आग बुझाने का काम कर रही थी. ज्ञात रहे कि हरलाल गुर्जर ने अपने पशुओं के लिए चार लाख रुपये में चारा खरीदा था. वह चारा अग्निकांड में जलकर राख हो गया. दमकल के आ जाने के कारण आग पर काबू पा लिया गया नहीं तो पूरा गांव जलकर राख हो जाता.