सचिवालय कर्मचारियों की समस्या सुलझाने के लिए जल्द होगी बैठक: अशोक गहलोत

सीएम ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में कहा कि हमेशा से ही उनकी सरकार ने कर्मचारियों का ध्यान रखा है. इस बार आपने महंगाई भत्ते की मांग रखी है. 

सचिवालय कर्मचारियों की समस्या सुलझाने के लिए जल्द होगी बैठक: अशोक गहलोत
सीएंम ने योजनाओं में सचिवालय कर्मचारियों की भागीदारी करने का भी आह्वान किया.

जयपुर: सीएम अशोक गहलोत ने जल्द ही सचिवालय से जुड़े सभी संघों के साथ बैठक करके उनकी समस्या सुलझाने और सरकार की योजनाओं को तेजी से लागू करने की मंशा जताई. सचिवालय में गणतंत्र दिवस के अवसर पर हुए कार्यक्रम में तबीयत नासाज होने से वे करीब आधे घंटे रुके लेकिन उन्होंने जल्द महंगाई भत्ता दिए जाने के संकेत देते हुए कर्मचारियों से निरोगी राजस्थान अभियान को बेहतर ढंग से लागू करने में अपना योगदान देने का आह्वान किया.

इस मौके पर मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने कर्मचारियों की पूरी की गई मांगों और उनके लिए शुरू किए गए प्रशिक्षण कार्यक्रमों का ब्यौरा देते हुए संकेत दिए कि चतुर्थ श्रेणी जैसी छोटी भर्तियां बिना इंटरव्यू के करवाने की बात कही. सचिवालय में हुए गणतंत्र दिवस समारोह से पूर्व सीएम गहलोत ने सचिवालय आकर बापू की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए और प्रांगण में ध्वजारोहण करके परेड की सलामी ली. इस मौके पर सचिवालय कर्मचारी संघ अध्यक्ष देवेंद्र ने सीएम की ओर से लंबित भर्ती पूरी करने के निर्देश पर सकारात्मक प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए अपनी मांगे रखी.

सीएम ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में कहा कि हमेशा से ही उनकी सरकार ने कर्मचारियों का ध्यान रखा है. इस बार आपने महंगाई भत्ते की मांग रखी है. आप सचिवालय में बैठते हो आपको सरकार की स्थिति भी पता है. हम आपकी मांगों को लेकर सकारात्मक हैं. सीएम ने सीएस को इनकी मांगों पर हल निकालने के लिए कहा. उन्होंने कर्मचारियों की समस्याओं और सरकार की योजनाओं और नीतियों को लागू करने के लिए जल्द ही सचिवालय से जुड़े संघ की बैठक बुलाने की भी बात कही. उन्होंने निरोगी राजस्थान और इस जैसे अन्य अभियानों और योजनाओं में सचिवालय कर्मचारियों की भागीदारी करने का भी आह्वान किया.  

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कर्मचारी कल्याण के निर्णय लेती रही है. आगे भी उनके हितों का पूरा ध्यान रखा जाएगा. हमारा प्रयास है कि आपका मनोबल हमेशा ऊंचा रहे. सरकार चाहती है कि आपकी भी मांगे पूरी हो लेकिन आप भी दूर गांव में बैठे लोंगों के लिए मन से काम करें. कर्मचारी संघों से वार्ता कर आपकी मांगों पर उचित निर्णय लेने का प्रयास किया जाएगा. उन्होंने कर्मचारियों का आह्वान किया कि वे सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ निचले स्तर तक पहुंचाने के लिए निष्ठापूर्वक कार्य करें.

इस मौके पर मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने कहा कि कर्मचारियों को अनुपयोगी पत्रावलियों का निस्तारण करना चाहिए और जरूरी पत्रावलियों को रिकॉर्ड रूम में जमा करना चाहिए. उन्होंने सचिवालय कर्मचारियों को 5 साल में आधारभूत प्रशिक्षण देने और सचिवालय कर्मचारियों का भी राजस्थान प्रशासनिक सेवा व अन्य सेवा जैसे प्रशिक्षण देने का कार्यक्रम शुरू होने की ओर ध्यान दिलाया. उन्होंने आश्रितों की विधवाओं सहित अन्य वर्ग को भी पदोन्नति के लिए अनुभव में छूट का लाभ दिए जाने की बात पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने की बात कही. 

उन्होंने प्रमुख सचिव रोली सिंह से कहा कि सचिवालय कर्मचारियों की 1 अप्रैल तक प्रोविजनल वरिष्ठता सूची जरूर से जारी करके नियमित डीपीसी करवाई जाए. इसके साथ चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों जैसी छोटी भर्तियों में जहां इंटरव्यू की जरूरत नहीं है. वहां लिखित परीक्षा से चयन हो तो यह पैटर्न लागू करने की कोशिश रहेगी.

डीओपी प्रमुख सचिव रोली सिंह, जेएस आशीष मोदी ने बांटे पुरस्कार
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सचिवालय समारोह में कर्मचारियों को संबोधित करने के बाद रवाना हो गए. इसके थोड़ी बाद मुख्य सचिव डीबी गुप्ता भी समारोह से चले गए. बाद में डीओपी प्रमुख सचिव रोली सिंह, संयुक्त सचिव आशीष मोदी और अशलम शेरखान ने पुरस्कार वितरित किए. 

ऐ मेरे वतन के लोगों जरा याद करो कुर्बानी
इस दौरान सचिवालय में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां भी दी गई. आकांक्षा राव ने ऐ मेरे वतन के लोगों गीत की शानदार प्रस्तुति दी. इसके बाद सचिवालय कर्मचारियों की ओर से शराब का सेवन नहीं करने को लेकर प्ले किया और शराब का सेवन नहीं करने की शपथ ली. वहीं, महिला कर्मचारियों ने सामूहिक नृत्य पेश किया.