चौमूं: 3 महीने में हनुमान जी ने नहीं करवाई शादी, नाराज युवक ने तोड़ दी प्रतिमा

 मंदिर के पुजारी के पोते ने ही मूर्ति तोड़ने की वारदात को अंजाम दिया और फिर अपने घर में जाकर सो गया. पुलिस ने डॉग स्क्वायड की मदद से आरोपी को घर से दबोच लिया. आरोपी युवक बोदू राम उर्फ भारत भूषण मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया जा रहा है.

चौमूं: 3 महीने में हनुमान जी ने नहीं करवाई शादी, नाराज युवक ने तोड़ दी प्रतिमा
वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी चुपचाप अपने घर में आकर सो गया.

प्रदीप सोनी, जयपुर: राजधानी की चौमूं थाना पुलिस (Chomu Thana Police) ने हनुमान (Hanuman) जी के मंदिर में मूर्ति तोड़ने के मामले का खुलासा कर दिया है. पुलिस ने मूर्ति तोड़ने वाले आरोपी को दबोच लिया है हालांकि इस संदर्भ में कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है.

पुलिस को मूर्ति तोड़ने की सूचना मिली तो पुलिस मौके पर पहुंची. मामले को गंभीर मानते हुए डीसीपी कावेंद्र सिंह सागर, थानाधिकारी हेमराज सिंह गुर्जर, एसीपी फूलचंद मीणा भी मौके पर पहुंचे. पुलिस के आलाधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया. पुलिस ने डॉग स्क्वायड की मदद से महज 2 घंटे में ही पूरे मामले का खुलासा कर दिया. 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, मंदिर के पुजारी के पोते ने ही मूर्ति तोड़ने की वारदात को अंजाम दिया और फिर अपने घर में जाकर सो गया. पुलिस ने डॉग स्क्वायड की मदद से आरोपी को घर से दबोच लिया. आरोपी युवक बोदू राम उर्फ भारत भूषण मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया जा रहा है.

आरोपी युवक बोदू राम ने पूछताछ में बताया कि वह पिछले माह से हनुमान जी के मंदिर में सेवा पूजा कर रहा था लेकिन हनुमान जी ने उसकी सुनी नहीं. उसका एक भी काम सिद्ध नहीं हुआ. आरोपी युवक बोदू राम ने पूछताछ में बताया कि वह अपने दादा के कहने पर मंदिर में रोज पूजा-अर्चना करने के लिए जा रहा था. युवक ने हनुमान जी से 3 माह में अपनी शादी कराने की मन्नत मांगी थी लेकिन मन्नत पूरी नहीं हुई तो आज गुस्सा आ गया और मूर्ति को सुबह-सुबह लोहे के सरिए से तोड़ दिया. 

वारदात को अंजाम देने के बाद चुपचाप अपने घर में आकर सो गया. इस पूरे मामले की जांच कर रहे पुलिस इंस्पेक्टर बेगाराम ने बताया कि फिलहाल इस पूरे मसले को लेकर किसी तरह का कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है. 

ये वीडियो भी देखें: