विधानसभा में छाया परिवहन और शिक्षा विभाग, मंत्री प्रताप सिंह ने दिया बड़ा बयान

राजस्थान विधानसभा में सोमवार को परिवहन और शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार का मुद्दा छाया रहा परिवहन विभाग में एसीबी की कार्रवाई की विधायकों में चर्चा रही.

विधानसभा में छाया परिवहन और शिक्षा विभाग, मंत्री प्रताप सिंह ने दिया बड़ा बयान
राजस्थान विधानसभा

जयपुर: राजस्थान विधानसभा में सोमवार को परिवहन और शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार का मुद्दा छाया रहा परिवहन विभाग में एसीबी की कार्रवाई की विधायकों में चर्चा रही. वहीं, शिक्षा विभाग में जारी हुई तबादला सूची में भी भाजपा विधायकों ने भ्रष्टाचार पनपने की आशंका जताई. परिवहन विभाग में एसीबी की बड़ी कार्रवाई को लेकर मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि जो लोग निर्दोष हैं उन्हें डरने की जरूरत नहीं है और जो दोषी हैं उनके खिलाफ सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है. 

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि एसीबी की कार्रवाई पूरे प्रदेश में हुई हैं. इसमें कई निर्दोष लोगों को भी एसीबी ने घर से उठाया है. इंस्पेक्टर एसोसिएशन और इंस्पेक्टर्स के परिजनों ने ऐसी जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि अगर कोई निर्दोष अधिकारी एसीबी के रडार पर है, तो उसे डरने की जरूरत नहीं है. फरवरी और मार्च महीना राजस्व वसूली का प्रमुख महीना है ऐसे में निर्बाध रूप से अपना काम करें. साथ ही जो लोग दोषी हैं उन्हें किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा. 

एसीबी के एक्शन पर उन्होंने कहा कि एसीबी सरकार के इशारे पर प्रमुखता से काम करती है. भाजपा सदस्यों को इस पर सवाल उठाने की आवश्यकता नहीं है. भ्रष्टाचार मुक्त सरकार की संकल्पना में पिछले 1 साल में जमीन माफियाओं, बजरी खनन समेत कई विभागों में एसीबी ने सक्रिय कार्रवाई की है यह भ्रष्टाचारियों में डर पनपाने की कोशिश है.

भाजपा विधायक कालीचरण सराफ ने कहा वर्तमान में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है. एसीबी की कार्रवाई के बावजूद अधिकारियों में खौफ नहीं है. वहीं, विधायक रामनारायण मीणा ने कहा कि कांग्रेस सरकार को राहुल गांधी के जीरो टोलरेंस के सिद्धांत पर काम करना चाहिए. भाजपा सरकार के पिछले 6 महीनों के फैसलों के दोषी अधिकारियों को दंड दिया जाना जरूरी था. इससे अधिकारियों में डर बैठता, लेकिन सरकार इसमें नाकाम रही आगे सरकार को सख्त एक्शन मोड में आना होगा.

एसीबी के एक्शन के बाद विधानसभा में राजनीति गरमाई रही. वहीं, विधानसभा आने वाले विधायकों के साथ-साथ अधिकारियों में भी इस पूरे मसले को लेकर चर्चा रही. आने वाले दिनों में कुछ ऐसे ही एक्शन एसीबी और करेगी ऐसी चर्चा भी विधायकों करते दिखे.