Rajasthan: सदन में उठा नौकरियों का मुद्दा, अमीन खां बोले-बड़ी भर्तियो का कोई हिसाब नहीं

Rajasthan News: अमीन खां ने कहा कि शासन का असली काम कमजोर को सबल बनाना है, वरना हम जनता से न्याय नहीं कर पाएंगे.

Rajasthan: सदन में उठा नौकरियों का मुद्दा, अमीन खां बोले-बड़ी भर्तियो का कोई हिसाब नहीं
अमीन खां ने सरकारी नौकरियों का सदन में उठाया मुद्दा. (फाइल फोटो)

Jaipur: अमीन खां ने सरकार में छोटी-छोटी नौकरियों की भर्ती पर पाबंदी लगाने पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि राज के खजाने का पैसा बचाने के लिए जलदाय विभाग के फिटर, बेलदार, लाइनमैन जैसे फोर्थ क्लास कर्मचारियों की भर्ती पर रोक लगी है. जबकि बड़ी भर्तियों का कोई हिसाब-किताब नहीं है.

उन्होंने कहा कि शासन का असली काम कमजोर को सबल बनाना है, वरना हम जनता से न्याय नहीं कर पाएंगे. दरअसल, पुलिस में नई भर्ती के सिस्टम पर सवाल उठाते हुए अमीन खां ने कहा कि पुराने जमाने का सिस्टम अच्छा था, जिसमें पुलिस अधीक्षक कमेटी का चेयरमैन होता था और दो उप अधीक्षक भी उसमें होते थे. कम से कम MP-MLA की एक-दो सिफारिश मान कर किसी स्थानीय आदमी की भर्ती तो हो जाती थी.

ये भी पढ़ें-BJP विधायक Saraf ने हाथ जोड़कर रखी फीस वसूली की बात, बोले- पैरेंट्स को राहत दिलाओ

 

अमीन खां ने कहा कि यह भर्ती योग्यता और फिटनेस के आधार पर ही होती थी. इससे लोकल को रोजगार भी मिलता था और स्थानीय आदमी की भर्ती से लॉ एंड ऑर्डर की मुद्दों की समझ भी रहती थी. शिव के विधायक ने कहा कि अभी जो भर्ती हो रही है उसमें बड़ी-बड़ी टेक्नोलॉजी जानने वाले लोग आ तो रहे हैं, लेकिन ना तो वह सिपाही की भाषा समझते हैं, ना CrPc और IPC समझते हैं. इनसे राज्य को फायदे के मुकाबले नुकसान ज्यादा हो रहा है. उन्होंने कहा कि यह जनहित का काम है, किसी पार्टी और जाति के फायदे का नहीं