close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर को आवारा पशुओं से मुक्त कराने को नगर निगम ने तैयार किया मोबाइल एप

इस एप के माध्यम से शिकायत करने पर नगर निगम के कर्मचारी आवारा जानवरों को पकड़ने के लिए तुरंत पहुंच जाएंगे. 

जयपुर को आवारा पशुओं से मुक्त कराने को नगर निगम ने तैयार किया मोबाइल एप
इस एप के माध्यम से विभाग सैकड़ों शिकायतों का निपटारा करेगा. (फाइल फोटो)

जयपुर: स्मार्ट सिटी जयपुर को आवारा जानवरों से मुक्त करने के लिए जयपुर नगर निगम अब स्मार्ट सिस्टम तैयार कर रहा हैं. आवारा जानवरों को पकड़ने के लिए जयपुर नगर निगम प्रशासन ई- एप तैयार की हैं. इस एप के माध्यम से शिकायत करने पर नगर निगम के कर्मचारी आवारा जानवरों को पकड़ने के लिए तुरंत पहुंच जाएंगे. 

विभागीय सूत्रों के अनुसार इस एप को तैयार करने के पीछे जयपुर नगर निगम का उदेश्य आवारा जानवरों को लेकर निगम को हर रोज सैकड़ों शिकायतों का निपटारा करना है. जिसके लिए स्वायत्त शासन विभाग के सहयोग से जयपुर नगर निगम ने इस एप की शुरूआत की है. जिससे आम लोगों की शिकायतों का निपटारा हो सकेगा. इसके अलावा नगर निगम की टीम को आवारा जानवरों को पकड़ने में भी मदद मिलेगी. माना जा सकता है कि प्रभावी मॉनिटरिंग और शहर से आवारा जानवरों से मुक्त करने के उद्धेश्य से इस एप को डिजाइन किया गया है.

विदेशी पर्यटक की मौत के बाद निगम ने चलाया था अभियान

आपको बता दें कि, 2018 में आवारा सांड़ के टक्कर मारने से एक विदेशी पर्यटक की मौत हो गई थी. जिसके बाद नगर निगम ने जयपुर शहर में सघन अभियान चलाकर आवारा जानवरों का सफाया किया. लेकिन करीब 15 हजार जानवरों के पकड़ने के बाद भी राजधानी जयपुर शहर आवारा जानवरों का सफाया नहीं हो सका.

वैसे आवारा जानवरों को लेकर जांच करने के दौरान यह जानकारी मिली की जयपुर नगर निगम ने जिस ठेका फर्म को जानवरों को पकड़ने के लिए ठेका दिया है. वो फर्म निगम क्षेत्र से ही नहीं निगम के बाहरी इलाके से भी आवारा जानवर पकड़ रही है.