close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में कमजोर पड़ा मानसून, गर्मी और उमस ने लोगों को किया बेहाल

मौसम विभाग ने संभावना जताई थी कि इस साल पूरे प्रदेश में मानसून की औसत बारिश से करीब 20 से 25 फीसदी ज्यादा बारिश होने की संभावना है

राजस्थान में कमजोर पड़ा मानसून, गर्मी और उमस ने लोगों को किया बेहाल
पश्चिमी विक्षोभ के कारण प्रदेश में मानसून एक जगह ही ठहर गया है.

उदयपुर: प्रदेश में मानसून ने 2 जुलाई को बांसवाड़ा-डूंगरपुर के रास्ते झूम के दस्तक दी थी. 4 जुलाई को मानसून ने जयपुर में प्रवेश किया, लेकिन उसके बाद से ही मानों मानसून एक जगह ठहर गया है. पिछले 5 दिनों से मानसून जहां था वहीं अटका हुआ है. वहीं इस दौरान प्रदेश में दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी के चलते लोगों को एक बार फिर से भीषण गर्मी और उमस सताने लगी है. पश्चिमी विक्षोभ के चलते बने इन हालातों की वजह से प्रदेश में मानसून पूरी तरह से निष्क्रिय बना हुआ है, जो अगले 48 घंटों तक आगे बढ़ता हुआ नजर नहीं आ रहा है.

प्रदेश में इस साल पड़ी भीषण गर्मी और उमस के साथ ही नोतपा में धरती तप गई थी, जिसके बाद मौसम विभाग ने संभावना जताई थी कि इस साल पूरे प्रदेश में मानसून की औसत बारिश से करीब 20 से 25 फीसदी ज्यादा बारिश होने की संभावना है, लेकिन 4 जुलाई के बाद बार-बार मौसम में बदलाव और पश्चिमी विक्षोभ के चलते मानसून एक जगह ही ठहर गया है. राजधानी जयपुर में 4 जुलाई को करीब 80 एमएम पानी बरसा था, लेकिन उसके बाद से ही जयपुर में एक बूंद पानी नहीं गिरा है. जिसके कारण गर्मी और उमस फिर से अपना प्रकोप दिखाने लगी है.

मानसून के कमजोर पड़ने से अब पूरे प्रदेश में हालात ऐसे बन गए हैं कि बीते तीन दिनों से प्रदेश के किसी भी हिस्से में बारिश नहीं हुई है. धूप निकलने के चलते तापमान में भी बढ़ोतरी दर्ज की जाने लगी है. जयपुर में जहां इस दौरान दिन के तापमान में करीब 5 से 6 डिग्री तक बढ़ोतरी दर्ज की जा चुकी है. वहीं रात के तापमान में करीब 4 से 5 डिग्री बढ़ने से उमस सताने लगी है. पूरे प्रदेश में दिन का तापमान करीब 35 डिग्री के पार पहुंच चुका है तो रात का तापमान भी करीब 26 डिग्री को पार कर चुका है.

मौसम विभाग के अनुसार अगले 48 घंटों तक प्रदेश में गर्मी और उमस के ऐसे हालात बने रहने की संभावना है. हालांकि मौसम विबाग की मानें तो 48 घंटों के बाद मानसून के आगे बढ़ने के साथ ही प्रदेश के कई जिलों में हल्की से तेज बारिश होने की संभावना है. साथ ही इस दौरान प्रदेश के आधा दर्जन जिलों में भारी बारिश होने की भी संभावना है.