close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मोरबी का सिरामिक उद्योग हुआ राजनीति का शिकार, राजस्थान ने बंद की रॉ-मटीरियल की सपलाई

राजस्थान सरकार द्वारा चिप्स, गिट्टी और ग्रीन्स की सप्लाई पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है. इस वजह से मोरबी के सिरामिक उद्योग पर संकट के बदल छाये हुए हैं

मोरबी का सिरामिक उद्योग हुआ राजनीति का शिकार, राजस्थान ने बंद की रॉ-मटीरियल की सपलाई

मोरबी: मोरबी के आसपास स्थित सिरामिक उद्योग में जो उत्पादन होता है उसका रॉ-मटीरियल राजस्थान से आता है. जिससे टाइल्स का निर्माण होता है लेकिन मोरबी के सिरामिक उद्योग द्वारा परॉक्ष या अपरॉक्ष रूप से गुजरात और केंद्र की भाजपा सरकार की मददगार होने के कारण राजस्थान सरकार द्वारा सिरामिक उद्योग के उत्पादन में काम आने वाली राजस्थानी चिप्स ,गिट्टी और ग्रीन्स की सप्लाई पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है. 

अपनी राजनितिक महत्वाकांक्षा पूरी करने के लिए राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने प्रतिबन्ध का निर्णय लिया है. इस तरह का आरॉप सिरामिक उद्योग से जुड़े लोगों ने लगाया है और राजस्थान की सरकार के खिलाफ राजस्थान हाईकोर्ट में एक या दो नहीं परन्तु 23 रिट पिटीशन सिरामिक उद्योग के मालिकों द्वारा दायर की गई है.

मोरबी सिरामिक उद्योग को भाजपा सरकार का पूर्ण सहयोग है इस बात में कोई शक नहीं है और इस वजह से ये भी माना जाता है की मोरबी के सिरामिक उद्योग से जुड़े लोगों का भाजपा सरकार को परॉक्ष या अपरॉक्ष रूप से आर्थिक समर्थन मिलता है. इसी बात से नाराज राजस्थान की कांग्रेस सरकार द्वारा हल के रूप में सिरामिक उद्योग के उत्पादन में होने वाले रॉ -मटीरियल्स की सप्लाई पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है. 

इस नीति के विषयक निर्णय होने के बाद भी राजस्थान सरकार द्वारा अपने राजनैतिक हित को ध्यान में रखते हुए इस तरह का निर्णय लिया गया है. इस तरह का आरॉप सिरामिक उद्योग व्यापारियों ने लगाया है. नियम यह है कि किसी भी राज्य की खदानों में से निकलने वाले मिनरल्स या मटीरियल्स की अंतर्राज्यीय सप्लाई पर राज्य सरकार रॉक लगा सकती है लेकिन प्रॉसेस करने के बाद दूसरे राज्यों को भेजे जाने वाले मिनरल्स या मटीरियल्स पर सरकार किसी भी तरह का रॉक नहीं लगा सकती. 

राजस्थान सरकार द्वारा चिप्स, गिट्टी और ग्रीन्स की सप्लाई पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है. इस वजह से मोरबी के सिरामिक उद्योग पर संकट के बदल छाये हुए हैं और इसी वजह से यहां के सिरामिक व्यापारियों द्वारा राजस्थान सरकार के खिलाफ 23 रिट पिटीशन राजस्थान हाईकोर्ट में दायर की गयी है. 

राजस्थान में पहले लम्पस यानि की पत्थर आते थे. जिसमे से उत्तम गुणवत्ता की मिट्टी तैयार की जाती थी लेकिन राजस्थान में पिछले विधानसभा चुनाव के समय आचार संहिता लगने के कुछ घंटो के पहले ही लम्पस की सप्लाई पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था. इसके बाद अब लोकसभा चुनाव की घोषणा हो गई है और आचार संहिता लगने के कुछ ही घंटो पहले चिप्स, ग्रीन्स, गिट्टी की सप्लाई पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया. 

राजस्थान से पत्थर का चूरा यानि की चिप्स, गिट्टी, ग्रीन्स को सप्लाई किया जा रहा था और यह मटीरियल को मोरबी लाया जाता था. जिसका प्रॉसेस कर यह सिरामिक उद्योग उत्तम गुणवत्ता की मिट्टी तैयार करते थे और उससे टाइल्स बनायीं जाती थी लेकिन अब राजस्थान सरकार ने इन चीजों की सप्लाई पर भी प्रतिबन्ध लगा दिया है.