close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान छात्रसंघ चुनाव में पांच लाख से अधिक छात्रों ने किया मतदान

प्रदेश की 12 सरकारी यूनिवर्सिटी और करीब 252 राजकीय महाविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव को लेकर मंगलवार को कॉलेज में मतदान प्रक्रिया संपन्न हुई. वहीं मतदान के बाद एनएसयूआई ने अपनी अपनी जीत के दावे किए. 

राजस्थान छात्रसंघ चुनाव में पांच लाख से अधिक छात्रों ने किया मतदान
बुधवार को सुबह सभी जगह एक साथ मतगणना होगी

जयपुर: राजस्थान के पांच लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने छात्रसंघ चुनाव में वोट किया. प्रदेश की 12 सरकारी यूनिवर्सिटी और करीब 252 राजकीय महाविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव को लेकर मंगलवार को कॉलेज में मतदान प्रक्रिया संपन्न हुई. मतदान के बाद एनएसयूआई ने अपनी अपनी जीत के दावे किए. हालांकि बुधवार को सुबह सभी जगह एक साथ मतगणना होगी और उसके तुरंत बाद परिणाम जारी किए जाएंगे.

राजनीति की पहली सीढ़ी माने जाने वाले छात्रसंघ चुनाव में आज उत्सव का दिन था. हालांकि पिछले पिछले साल की तरह ही इस साल भी 50 फीसदी तक ही मतदान पहुंचा. इस साल राविवि में 50.53 फीसदी मतदान हुआ, लेकिन अच्छी बात ये रही कि प्रदेश में चुनावों को दौरान कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ. सुबह 8 बजे से 1 बजे तक हुए मतदान हुआ. सुबह 9 बजे तक मतदाता मतदान करने बहुत कम पहुंचे, लेकिन जैसे जैसे दिन चढ़ा मतदाताओं की संख्या भी बढ़ती गई. मतदान के दौरान यूनिवर्सिटी के साथ ही चारों संघटक कॉलेजों में सुरक्षा के भी पुख्ता बंदोबस्त रहे.

1 बजे मतदान प्रक्रिया खत्म होन के साथ ही दोनों ही छात्र संगठन और निर्दलीय ने अपनी-अपनी जीत का दावा किया. इसके साथ ही जहां एबीवीपी की ओर से सरकार पर छुट्टियों के बाद मतदान चुनाव करवाने के आरोप लगाए गए हैं. वहीं निर्दलीय पूजा वर्मा ने 1 हजार से ज्यादा वोटों से जीत का दावा किया. इसके साथ ही एनएसयूआई प्रत्याशी उत्तम चौधरी ने भी अपनी जीत का दावा किया.

राजस्थान यूनिवर्सिटी सहित चारों संघ कॉलेजों में शांतिपूर्ण चुनाव सम्पन्न होने के बाद चुनाव अधिकारी दीपक भटनागर ने बताया कि इस साल 50.53 फीसदी मतदान हुआ है. अब डीएसडब्ल्यू कार्यालय में सभी मतपेटियों को रखवाकर लॉक किया जाएगा. इसके बाद बुधवार सुबह 9.30 बजे सभी की मौजूदगी में इन तालों को खोला जाएगा और 11 बजे से मतगणना शुरू होगी और परिणाम दोपहर तक आने की संभावना है.

पिछले 20 दिनों से चली आ रही चुनावी भागदौड़ आज खत्म हो गई है. अब तो कल का वक्त ही बताएगा की राजस्थान विश्व विद्यालय इस साल किसी संगठन को मौका देता है या फिर लगातार चौथे साल निर्दलीय बाजी मारेंगे.