नागौर: मकराना नगर परिषद आयुक्त 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार

एसीबी ने नागौर के मकराना में बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए मकराना नगर परिषद आयुक्त को 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

नागौर: मकराना नगर परिषद आयुक्त 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार
सीकर एसीबी के डीएसपी जाकिर अख्तर ने बताया कि परिवादी संदीप कुमार से लावारिस पशुओं को पकडऩे के ठेके में आधे रुपए मांगे थे.

हनुमान तंवर, नागौर: सीकर एसीबी ने नागौर के मकराना में बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए मकराना नगर परिषद आयुक्त को 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार (ACB Trap in Rajasthan) किया है. बुधवार रात को हुई कार्रवाई में एसीबी की टीम ने मकराना में बने बीएसएनएल क्वार्टर के पास आयुक्त संतलाल मक्कड़ को रिश्वत की राशि के साथ दबोच लिया. 

ये भी पढ़ें: राजस्थान में फिर से सस्ती हुई शराब, सरकार ने वापस लिया सरचार्ज

सीकर एसीबी के डीएसपी जाकिर अख्तर ने बताया कि परिवादी संदीप कुमार से लावारिस पशुओं को पकडऩे के ठेके में आधे रुपए मांगे थे. पौने छह लाख का टेंडर था, जिसमें से आयुक्त ने आधे रुपए मांगे. आखिरकार दोनों के बीच ढाई लाख रुपए आयुक्त को देने की बात को लेकर सौदेबाजी तय हुई, इस मामले में परिवादी संदीप ने एसीबी को शिकायत की, जिस पर एसीबी ने सत्यापन करने के लिए परिवादी से आयुक्त को 10 हजार रुपए दिलवाए.

सत्यापन होने के बाद बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछाकर एसीबी ने परिवादी को आयुक्त के पास भेजा. परिवादी संदीप से आयुक्त संतलाल द्वारा रिश्वत के 40 हजार रुपए लेते ही एसीबी ने आयुक्त को रंगे हाथों दबोच लिया. मामले में अल सुबह तक एसीबी कार्रवाई में जुटी रही. आयुक्त के गंगानगर नगर स्थित निवास स्थान पर भी एसीबी की टीम भेजी गई, जिसने गंगानगर में भी कार्रवाई को अंजाम दिया है.जानकारी में आया कि बिल को पास कराने की एवज में संतलाल पहले भी 70 हजार रुपए की रिश्वत ले चुका था.

ये भी पढ़ें: गहलोत-वसुंधरा के गठबंधन को पंचायतीराज चुनाव में बेनकाब करेगी RLP: हनुमान बेनीवाल