नागौर: 7 दिन से घूम रहे पैंथर को वन विभाग ने पकड़ा, लोगों ने ली राहत की सांस

7 दिन पहले मुंडवा कुचेरा और उसके आसपास के क्षेत्र में लगातार घूम रहा था और इन इलाकों में पैंथर के पैरों के निशान भी देखे गए थे.

नागौर: 7 दिन से घूम रहे पैंथर को वन विभाग ने पकड़ा, लोगों ने ली राहत की सांस
प्रतीकात्मक तस्वीर

जोधपुर: नागौर जिले के मुंडावा में गांववालों ने तेंदुए से डर कर उस पर हमला कर दिया. दरअसल, यह तेंदुआ पिछले कई दिनों से गांव के लोगों में दहशत बनाए हुआ था. यहां तक कि इस तेंदुए को पकड़ने के लिए जयपुर से एक टीम भी भेजी गई थी, लेकिन जैसे ही तेंदुआ गांववालों के सामने आया तो गांववालों ने तेंदुए पर पथराव किया और उसे जलाने का भी प्रयास किया.

आपको बता दें, 7 दिन पहले मुंडवा कुचेरा और उसके आसपास के क्षेत्र में लगातार घूम रहा था और इन इलाकों में पैंथर के पैरों के निशान भी देखे गए थे. जिस कारण गांव के लोग काफी डरे हुए थे. जिसके चलते जब गुरुवार को गांववालों को पैंथर दिखा तो डर के मारे गांववालों ने उस पर पथराव शुरू कर दिया. जिसके चलते वह खेजड़ी के पेड़ पर चढ़ गया. 

जिसके बाद वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और गांववालों को पैंथर पर पथराव करने से रोगा. हालांकि, वन विभाग की टीम द्वारा समझाने के बाद ही गांववाले शांत हुए. इसके बाद पेड़ पर चढ़े पैंथर को ट्रेंकुलाइज किया गया. जिसके बाद पैंथर को वन विभाग की टीम नागौर ले गई. पैंथर को पकड़ने के बाद वन विभाग और गांव के लोगों दोनों द्वारा राहत की सांस ली गई. 

गौरतलब है कि, वन विभाग की टीम ने पैंथर को पकड़ने के लिए तीन जगह पिंजरे भी लगाए थे और पूरे एरिया में पैंथर को सर्च किया जा रहा था. हालांकि, अंत में पैंथर मुंडावा से पकड़ा गया.