Ajmer: NSG ने पुष्कर में संभाला मोर्चा, आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयारियों का लिया जायजा

Ajmer News: पुष्कर में तीन दिन से लगातार NSG के कमांडो और उच्च अधिकारी आपातकाल स्थिति से निपटने को लेकर की गई अपनी सुरक्षा तैयारियों का जायजा ले रहे हैं.

Ajmer: NSG ने पुष्कर में संभाला मोर्चा, आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयारियों का लिया जायजा
NSG ने पुष्कर में संभाला मोर्चा.

Ajmer: अजमेर के पुष्कर में NSG के कमांडों की ट्रेनिंग चल रही है. कमांडों दस्ते ने इस दौरान बम डिस्पोजल, फायरिंग और तमाम ड्रिल एक्सरसाइजेज की और देश की सुरक्षा में मजबूत और सुरक्षित हाथों में होने का एहसास कराया. पुष्कर में तीन दिन से लगातार NSG के कमांडो और उच्च अधिकारी आपातकाल स्थिति से निपटने को लेकर की गई अपनी सुरक्षा तैयारियों का जायजा ले रहे हैं.

यूं तो पुष्कर कस्बा आध्यात्मिक धुनों और सांस्कृतिक ताल के साथ-साथ प्राकृतिक मौन को महसूस करता है. पर इन दिनों कस्बे की फिजाओं में गोलियों की गूंज और बारूद की गंध तैर रही थी. भारत का विशेष सुरक्षा दस्ता पिछले दो दिनों से कस्बे के इजरायली धर्म स्थल बेतखबाद, होटल ओएसिस और जगत पिता ब्रह्मा मंदिर में एन्टी टेरर और होस्टेज क्राइसिज ड्रिल कर रहा था, जिसके चलते आम लोगों को इन चिन्हित स्थानों से दूर रखा जा रहा था.

वहीं, NSG के डिप्टी पोस्ट कमांडेंट अभिषेक मुखर्जी ने ड्रिल के बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि ‘इस विशेष एक्सरसाइज का नाम ‘लाइटिंग स्ट्राइक’ रखा गया था, जिसमें NSG कमांडो की 12 टीमों ने हिस्सा लिया. साथ ही इसमें ATS, SDRF और राजस्थान पुलिस के जवानों और अधिकारियों ने भी हिस्सा लिया. इस एक्सरसाइज के दौरान कई राउंड गोलियां चलाई गईं और विभिन्न प्रकार के ग्रेनेट प्रयोग में लिये गए. पूरी कार्यवाही आईजी ऑपरेशन मेजर जनरल वी एस रानाडे के निर्देशन में हुई.’ 

दरअसल पुष्कर कस्बा सालों से आतंकवादियों के निशाने पर रहा है. तीर्थ नगरी पुष्कर में विश्व के एकमात्र चतुर्मुख ब्रह्मा का मंदिर है इसके साथ ही राजस्थान के एकमात्र इजरायली यहूदी समुदाय का धर्म स्थल बेतखबाद भी स्थित है. जिसके चलते कस्बा संवदेनशील इलाकों में आता है.

पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी आतंकवादी डेविड कोलमैन हेडली ने 2009 में दो दिन पुष्कर में रुक कर रेकी की थी.  जिसका खुलासा मुम्बई हमले के बाद हुआ था. तब से ही जगत पिता ब्रह्मा मंदिर और इजरायली धर्म स्थल बेतखबात की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी. हाल ही में इजरायली एम्बेसी के बाहर हुए बम धमाकों के बाद देश की सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं. इसी के चलते इस तरह की ड्रिल को अंजाम दिया गया है.

Satendra Yadav, News Desk