close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रतापगढ़: माता बनी कुमाता, नवजात बच्ची को सूनसान जंगल में छोड़ा

जिले की मगरीफला पहाड़ी पर ऐसी ही एक नवजात बच्ची मिली, जिसे उसकी मां छोड़ कर चली गई थी.

प्रतापगढ़: माता बनी कुमाता, नवजात बच्ची को सूनसान जंगल में छोड़ा
सूचना मिलने पर धरियावद पुलिस मौके पर पहुंची. (प्रतीकात्मक फोटो)

प्रतापगढ़: भारतीय संस्कृति में मां को हमेशा ऊंचा स्थान दिया जाता है. लेकिन प्रतापगढ़ जिले का एक वाकया आपको हतप्रत कर देगा. यहां एक मां ने अपनी बेटी को जन्म देने के तुरंत बाद एक ऐसी सूनसान पहाड़ी पर छोड़ दिया, जहां कई जंगली जानवर रहते हैं. जिले की मगरीफला पहाड़ी पर ऐसी ही एक नवजात बच्ची मिली, जिसे उसकी मां छोड़ कर चली गई थी.

जिले के धरियावद क्षेत्र के जीवातालाब के पास मगरीफला में सैयद शाहदाब को एक पहाड़ी के पास एक बच्ची के रोने-बिलखने की आवाज सुनाई दी. जिसे उन्होंने अपनी गोद में लेने के बाद पुलिस को इसकी जानकारी दी.

लाइव टीवी देखें-:

इसकी सूचना मिलने पर धरियावद पुलिस मौके पर पहुंची. जिसके बाद बच्ची को धरियावद रेफरल हॉस्पिटल लाया गया. जहां चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार कर बच्ची को प्रतापगढ़ के लिए रेफर कर दिया. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

चिकित्सक डॉ अवदेश बेरवा ने बताया कि बच्ची का जन्म आज ही हुआ है. यह डिलेवरी किसी सरकारी हॉस्पिटल में नही की गई. बच्ची का वजन 1 किलो 412 ग्राम है, जिससे पता चलता है कि 9 माह की पूरी डिलेवरी नहीं है. नार्मल 9 माह की डिलिवरी में बच्चे का वजन ढाई से तीन किलो होता है. फिलहाल बच्ची स्वस्थ है.