close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: रैगिंग के खिलाफ MCI की नई गाइड लाइन पर हुई बैठक, रोकथाम पर हुई चर्चा

 मेडिकल कॉलेजों में अब यदि रैगिंग का कोई मामला पाया जाता है तो इसका जिम्मेदार खुद कॉलेज प्रशासन होगा. 

कोटा: रैगिंग के खिलाफ MCI की नई गाइड लाइन पर हुई बैठक, रोकथाम पर हुई चर्चा
एंटी रैगिंग स्क्वेड कमेटी का गठन भी किया गया. (प्रतीकात्मक फोटो)

कोटा: मेडिकल कॉलेज में रैगिंग को लेकर एमसीआई ने सख्त रुख अपनाते हुए नई गाइड लाइन जारी की है. मेडिकल कॉलेजों में अब यदि रैगिंग का कोई मामला पाया जाता है तो इसका जिम्मेदार खुद कॉलेज प्रशासन होगा. ऐसे मामले सामने आने के बाद कॉलेज प्रशासन पर एक लाख रुपए का जुर्माना तक लगाया जा सकता है.

गाइड लाइन की पालना में कोटा मेडिकल कॉलेज की पहली रैगिंग कमेटी की बैठक कॉलेज प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना की अध्यक्षता में हुई. बैठक में नई गाइडलाइन पर चर्चा की गई. 

भरवाया जाएगा शपथ-पत्र
सदस्यों ने बताया कि नई गाइडलाइन के अनुसार इस बार कॉलेज में विद्यार्थियों से अनुशासन में रहने के शपथ पत्र भी भरवाए जा रहे हैं. यदि कोई विद्यार्थी शपथ पत्र का उल्लंघन करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.

लाइव टीवी देखें-:

12 सदस्यों की कमेटी गठित
कॉलेज में विद्यार्थियों की निगरानी के लिए 12 सदस्यों की एंटी रैगिंग स्क्वेड कमेटी का गठन भी किया गया. कमेटी की अध्यक्ष डॉ. अनिता ई चांद को बनाया गया. कमेटी सदस्य कॉलेज, अस्पताल व आसपास चौराहे तक विद्यार्थियों पर निगाह रखेंगे.

बैठक में नए अस्पताल अधीक्षक सीएस सुशील, घनश्याम सोनी, एससी दुलारा, दीपिका मित्तल, डॉ. गुलाब कंवर, डॉ. प्रतिमा जायसवाल, एएसपी राजेश मील, डॉ. विनोद जांगिड़, डॉ. देवेन्द्र यादव मौजूद रहे.