close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर में दो साल बाद लागू होंगी डीएलसी की नई दरें, बढ़ेगी रजिस्ट्री की फीस

नियमों के मुताबिक डीएलसी की दरों को साल में एक बार बढ़ाया जा सकता है. सरकार को ये अधिकार है कि वो 49 फीसदी तक दरें बढ़ा सकती है.

जयपुर में दो साल बाद लागू होंगी डीएलसी की नई दरें, बढ़ेगी रजिस्ट्री की फीस
चुनावों से ठीक पहले बीजेपी सरकार ने डीएलसी की रेट 10 प्रतिशत घटा दी थी.

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर जिले में दो साल बाद डीएलसी की नई दरें आज से लागू हो जाएंगी. जिसके बाद जयपुर जिले में रजिस्ट्री करवाना अब महंगा हो जाएगा. रेट बढ़ने की वजह से हर किसी ने जमीन की रजिस्ट्री का काम पहले से निपटाने की कोशिश की. पिछले एक सप्ताह से राजधानी के सब रजिस्ट्रार कार्यालयों में भीड़ जमी रही.

राजधानी जयपुर में आज से डीएलसी की नई दरें लागू हो जाएगी. जमीन रजिस्ट्री की कीमतें बढ़ जाएगी. ऐसे में हर किसी ने रजिस्ट्री से जुड़े मामलों को पहले ही निपटाने की कोशिश की. पिछले एक सप्ताह से सब रजिस्ट्रार कार्यालयों में भीड़ लगी रही. पिछले एक सप्ताह से औसतन हर 10 मिनट में एक रजिस्ट्री हो रही थी.

आपको बता दें कि चुनावों से ठीक पहले बीजेपी सरकार ने डीएलसी की रेट 10 प्रतिशत घटा दी थी लेकिन चुनावों के बाद कांग्रेस सरकार ने खजाना भरने के लिए डीएलसी की दरों को फिर से बढ़ा लिया. वहीं एक सप्ताह पहले हुई जिला भूमि दर निर्धारण समिति की बैठक में जमीन के रेट औसतन 15 प्रतिशत तक बढ़ाने की पर सहमति बनी. आवासीय क्षेत्र की रेट 15 प्रतिशत तक बढ़ाए हैं. इससे शहर की प्राइम लोकेशन में अब दुकान बनाना और मकान बनाना महंगा हो जाएगा.

नियमों के मुताबिक डीएलसी की दरों को साल में एक बार बढ़ाया जा सकता है. सरकार को ये अधिकार है कि वो 49 फीसदी तक दरें बढ़ा सकती है. वैसे वसुंधरा सरकार ने डीएलसी रेट को घटा दिया था जिससे रजिस्ट्री कराना सस्ता हो गया था लेकिन अब कांग्रेस सरकार का कहना है कि रेट घटाने से सरकारी खजाने को नुकसान हुआ है. इसलिए कीमतों को फिर से बढ़ाया जा रहा है.