close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जालौर: ठेकेदार ने वन विभाग के सैंकड़ों पेड़ों का किया नुकसान, नहीं हुई कोई कार्रवाई

शिकायत के बावजूद अब तक ठेकेदार के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है.

जालौर: ठेकेदार ने वन विभाग के सैंकड़ों पेड़ों का किया नुकसान, नहीं हुई कोई कार्रवाई
मीडिया की पड़ताल में मीडिया की सच्चाई सामने आई. (प्रतीकात्मक फोटो)

जालौर: जिले के चितलवाना उपखण्ड क्षेत्र से गुजर रही नर्मदा मुख्य नहर पर सड़क निर्माण कर रहे ठेकेदार ने वन विभाग के सैंकड़ों पेड़ उखाड़ दिए हैं. जिसकी शिकायत मिलने के बावजूद जिम्मेदार अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की है.

जानिए क्या है मामला
दरअसल, गांधव गांव की पुलिया से साता गांव तक भारतमाला परियोजना के तहत एनएच 925 ए सड़क बन रही है. इसी सड़क में कई जगह ढलान है. जिसको समतल करने के लिए रेत की आवश्यकता है. जिसके लिए ठेकेदार ने नर्मदा नहर के किनारे जमीन पर लगे पेड़ उखाड़ने शुरू कर दिए.

ग्रामीणों ने किया विरोध
जानकारी मिलने के बाद स्थानीय ग्रामीणों ने इनका विरोध किया. जिसके बाद ठेकेदार ने विभाग से अनुमति लेने की बात कही. लेकिन विभागीय अधिकारियों ने रेत उठाने की लिए किसी भी तरह की अनुमति देने से इंकार किया है. 

नर्मदा विभाग की है जमीन
आपको बता दें कि चितलवाना क्षेत्र से गुजर रही नर्मदा नहर के किनारे नर्मदा विभाग की जमीन है. जिसे वृक्षारोपड़ के लिए वन विभाग को सौंपा गया है. इस दौरान मीडिया की पड़ताल में ठेकेदार ने संबंधित विभाग से मौखित अनुमति लेने की बात कही. मामले की जानकारी मिलने के बाद विभागीय अधिकारियों ने जांच करवाने की बात कही है.