close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नागौर: मूलभूत सुविधाओं से दूर मिंडा रेलवे स्टेशन, विभाग पूरी तरह नजर आ रहा लापरवाह

रेलवे स्टेशन में अब तक प्लेटफार्म नहीं बना. इस दौरान यात्रियों को ट्रेन में दाखिल होने के लिए 5 फीट की ऊंचाई तक चढ़ना पड़ता है.

नागौर: मूलभूत सुविधाओं से दूर मिंडा रेलवे स्टेशन, विभाग पूरी तरह नजर आ रहा लापरवाह
स्टेशन पर बने शेड की हालत जीर्ण शीर्ण है. (प्रतीकात्मक फोटो)

नागौर: नागौर जिले के नावा तहसील का मिंडा गांव का रेलवे स्टेशन मूलभूत सुविधाओं से भी कोसों दूर है. रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म की ऊंचाई काफी कम है. जिस कारण यात्रियों के हादसे का शिकार होने की बनी रहती है.

रेलवे विभाग इस मामले को लेकर पूरी तरह लापरवाह नजर आता है. रेलवे स्टेशन बनाए जाने के बाद अब तक इस ओर कोई भी ध्यान नहीं दिया गया है. स्टेशन पर यात्रियों के लिए बिजली व पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं है. जिस कारण यात्रियों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. 

लाइव टीवी देखें-:

मीडिया से बातचीत में यात्रियों ने बताया कि सरकार 24 घंटे बिजली देने की बात कहती है. लेकिन यहां तो रेलवे स्टेशन जैसी सार्वजनिक जगह पर भी बिजली व पानी की सुविधा नहीं है.

आपको बता दें कि कई साल पहले बने रेलवे स्टेशन में अब तक प्लेटफार्म नहीं बना. इस दौरान यात्रियों को ट्रेन में दाखिल होने के लिए 5 फीट की ऊंचाई तक चढ़ना पड़ता है. जिससे बुजुर्गों, महिलाओं व बच्चों को काफी परेशानी भुगतनी पड़ती है. इसके साथ ही स्टेशन पर बने शेड की हालत जीर्ण शीर्ण है. इस वजह से यात्रियों को पेड़ की छांव में ट्रेनों का इंतजार करना पड़ता है.