close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: एमबीएस हॉस्पिटल में नहीं है आग बुझाने का इंतजाम, अग्निशमन यंत्र गायब

अस्पताल के सोनोग्राफी कक्ष, एक्सरे कक्ष, सेंट्रल लैब, मेडिसिन इमरजेंसी, कैंसर वार्ड, आउटडोर जैसी संवेदनशील जगहों पर एक भी अग्निशमन यंत्र नहीं लगा है.

कोटा: एमबीएस हॉस्पिटल में नहीं है आग बुझाने का इंतजाम, अग्निशमन यंत्र गायब
अस्पताल अधीक्षक नवीन सक्सेना ने मामले को टालने का प्रयास किया. (फाइल फोटो)

कोटा: कोटा स्थित एमबीएस अस्पताल में अस्पताल प्रशासन मरीजों के जीवन के साथ पूरी तरह खिलवाड़ कर रहा है. अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के मरीजों और यहां कार्यरत लोगों की जान हमेशा खतरे में है. बताया जा रहा है कि रिफिलिंग के बाद भी यहां अग्निशमन यंत्र नहीं लगाए गए हैं. 

सूत्रों के अनुसार, अस्पताल में उपलब्ध 75 अग्निशमन यंत्रों को 53 स्थानों पर लगाया जाना है. सूरत में आगजनी की घटना के बाद सचेत हुए एमबीएस में प्रशासन ने आगजनी निपटने के खाली पड़े 75 अग्निशमन यंत्र की रिफलिंग के लिए दो माह पहले टेंडर जारी किया था. लेकिन संबंधित फर्म ने डेढ़ माह तक संबंधित फर्म इसकी रिफिलिंग नहीं की. बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले ही फर्म ने रिफलिंग करके अस्पताल प्रशासन को सौंपे है. इसके बाद भी अब तक अग्निशमन यंत्र ऑक्सीजन प्लांट के पास वाले रूम में पड़े है. 

लाइव टीवी देखें-:

अस्पताल के सोनोग्राफी कक्ष, एक्सरे कक्ष, सेंट्रल लैब, मेडिसिन इमरजेंसी, कैंसर वार्ड, आउटडोर जैसी संवेदनशील जगहों पर एक भी अग्निशमन यंत्र नहीं लगा है. लापरवाही का आलम देखिये मेडिसिन इमरजेंसी में ऑक्सीजन का प्लांट लगा है. जिसके जरिये वार्ड में भर्ती मरीजो को ऑक्सीजन की सप्लाई होती है. वहां भी अभी तक अग्निशमन तंत्र नहीं लगा है. इस संबंध में अस्पताल अधीक्षक नवीन सक्सेना ने इसे वार्ड इंचार्ज की जिम्मेदारी बताते मामले को टालने का प्रयास किया.