नए साल पर सूनी रहेंगी Mount Abu की वादियां, Corona ने लगाया ग्रहण!

सरकार ने डीजे नाइट्स प्रोग्राम, सामूहिक कार्यक्रम सहित होने वाले अन्य कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है परन्तु क्षेत्र में नाइट कर्फ्यू नहीं रहेगा.

नए साल पर सूनी रहेंगी Mount Abu की वादियां, Corona ने लगाया ग्रहण!
प्रतीकात्मक तस्वीर.

साकेत गोयल, सिरोही: नव वर्ष की दहलीज पर खड़े विश्वभर के साथ देश-प्रदेश में कोविड-19 (Cov.d-19) और एकाएक आए कोरोना (Corona) के एक नए स्ट्रेन (बदला हुआ प्रतिरूप) से हर कोई आशंकित है. साथ ही वैश्विक स्तर पर आ रही नित नयी जानकारियों के अनुरूप सरकारी फ़रमान भी अपनी जगह पर लोगों को आगाह कर रहे हैं. बहरहाल यही एक वजह भी रही कि पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू (Mount Abu) में इस बार नव वर्ष के आगाज पर पिछले वर्ष की तुलना में पर्यटकों की संख्या कम देखी जा रही है.

यह भी पढ़ें- Jaipur: नए साल का जश्न न पहुंचा दे आपको Jail, रात 8 से सुबह 6 बजे तक है Curfew

 

राजस्थान (Rajasthan) के एक मात्र हिल स्टेशन माउंट आबू (Mount Abu) में इस बार नए साल पर होने वाले के कार्यक्रम का सामूहिक आयोजन नहीं किया जाएगा, जिसको लेकर जिला प्रशासन द्वारा गाइड लाइन जारी कर दी है. हर साल नए साल के आगाज पर पर्यटन नगरी माउंटआबू में होटल प्रबंधन द्वारा भव्य आयोजन किये जाते थे और नगरपालिका द्वारा भी भव्य आतिशबाजी कर नए साल का जश्न मनाया जाता था लेकिन कोरोना वैश्विक महामारी के चलते इस बार के होने वाले बड़े आयोजन जिसमें डीजे नाइट्स प्रोग्राम, सामूहिक कार्यक्रम सहित होने वाले अन्य कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है परन्तु क्षेत्र में नाईट कर्फ्यू नहीं रहेगा.

यह भी पढ़ें- Mount Abu में लोग ले रहे शिमला का Feel, लगातार तीसरे दिन तापमान माइनस 4 डिग्री

 

गौरतलब है कि पिछले 40 वर्षों से यहां पर वर्ष के अंत में शरद महोत्सव का आयोजन होता रहा है, जिस पर अब केन्द्र सरकार के जारी दिशा-निर्देशों के आधार पर रोक लग गयी है क्योंकि भीड़-भाड़ के एकत्रीकरण कोरोना के फैलने की आशंका बनी हुई है. 

यही कारण है कि अब शरद महोत्सव (Sharad Mahotsav) के नहीं होने के साथ-साथ यहां पर पुलिस व प्रशासन स्थानीय होटलों सहित अन्य जगहों पर होने वाले छोटे बड़े आयोजन पर अपनी निगाह बनाए रखेगा साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि कहीं पर भी भीड़ भाड़ के रूप में लोगों का एकत्रीकरण न हो पाए हालांकि कोविड-19 के जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार जनसंख्या पर आधारित मानक यहां पर पूर्ण न होने के कारण नाइट कर्फ्यू की व्यवस्था माउंट आबू में नहीं होगी.

पर्यटकों की संख्या में कमी 
इधर नए साल का जश्न मनाने के लिए अलग-अलग राज्यों के पर्यटकों के पहुंचने का सिलसिला भी जारी है, लेकिन इस बार पिछले वर्ष की तुलना में पर्यटकों की संख्या में कमी देखी जा रही है. जहां पिछले वर्षों में माउंट आबू के होटलों में नववर्ष के आगाज पर नो रूम की स्थिति बनी रहती थी, वहीं इस बार माउंट आबू में पर्यटकों की संख्या की कमी के चलते होटलों में वह स्थिति नहीं है.