Covid-19: कृष्ण जन्माष्टमी पर नहीं होंगे मंदिरों में आयोजन, भक्त करेंगे लाइव दर्शन

अतिरिक्त कलेक्टर शहर ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण सरकार द्वारा गाइड लाइन जारी की गई है. 

Covid-19: कृष्ण जन्माष्टमी पर नहीं होंगे मंदिरों में आयोजन, भक्त करेंगे लाइव दर्शन
प्रतीकात्मक तस्वीर.

कोटा: कोरोना संक्रमण को देखते हुए आगामी धर्मिक पर्व और त्यौहारों पर गाइड लाइन की पालना के संबंध में अतिरिक्त कलेक्टर शहर आरडी मीणा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट में धार्मिक संगठनों की बैठक आयोजित की गई. इसमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर प्रवीण जैन और मंदिर प्रबन्धन समिति के पदाधिकारी उपस्थित रहे.

अतिरिक्त कलेक्टर शहर ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण सरकार द्वारा गाइड लाइन जारी की गई है. संक्रमण को रोकने के लिए इसकी पालना आवश्यक है कि सभी धर्मों के धर्म गुरुओं द्वारा कोरोना को देखते हुए पूजा-अर्चना घर पर रहकर ही करने की अपील की जा चुकी है. 

कोरोना का संक्रमण रोकना सभी नागरिकों के सामूहित प्रयासों से ही संभव है. सरकार द्वारा जारी गाइड़ लाइन की पालना की जानकारी देते हुए कहा कि 31 अगस्त तक सभी धार्मिक स्थलों को बंद करने का निर्णय लिया हुआ है. जिले में धारा 144 के प्रावधान लागू होने से एक स्थान पर भीड़ एकत्रित नहीं कर सकते, ऐसे में आगामी जन्माष्टमी का त्यौहार पर किसी भी स्थान पर भीड़ एकत्रित करने वाले कार्यक्रमों का आयोजन नहीं किया जाए. मंदिरों में आयोजित होनी वाली विशेष पूजा के समय मंदिर प्रबन्धन के अलावा आम नागकिों को अनुमति नहीं देने तथा 5 से अधिक सदस्यों को एकत्रित नहीं होने देने का सुझाव दिया.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कोरोना के कारण सभी धर्मों के पर्व, त्यौहार गाइड़ लाइन की पालन करते हुए मनाए जाने का निर्णय समाज हित ने लिया हुआ है. इसकी पालना सुनिश्चत की जाए. त्यौहारों के अवसर पर किसी भी प्रकार का आयोजन बिना अनुमति के नहीं किया जा सकेगा, किसी भी स्थान पर भीड़ एकत्रित करने पर आयोजक को जिम्मेदार मानकर कार्यवाही की जाएगी.

मंदिर प्रबन्धन समिति से जुडे प्रतिनिधियों ने बताया कि कोरोना के कारण अभी तक मंदिरों में आम नागरिकों का प्रवेश प्रतिबन्धित किया गया है. उन्होंने आश्वस्त किया कि जन्माष्टमी के अवसर पर किसी प्रकार का आयोजन मंदिर परिसरों के समीप नहीं किया जाएगा.

विशेष पूजा का होगा लाइव प्रसारण
मंदिर प्रबन्धन समिति के प्रतिनिधियों ने बताया कि जन्माष्टमी पर होने वाली विशेष पूजा पर इस बार मंदिरों में आम नागरिकों का प्रवेश कोरोना के कारण निषेध रहेगा. मथुराधीश मंदिर में फोटोग्राफी व विडियोग्राफी प्रतिबन्धित होने के कारण राधाकृष्ण मंदिर में आयोजित होने वाली विशेष आरती का केबल ऑपरेटर्स के माध्यम से मंदिर प्रबन्धन सीधा प्रसारण की व्यवस्था करेगा. इसी प्रकार डीसीएम परिसर में मनाई जाने वाला जन्माष्टमी का विशेष पर्व का कार्यक्रम भी स्थगित कर दिया गया है.