close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: अब तक नहीं मिला बीजेपी को प्रदेश अध्यक्ष, 45 दिनों से कार्यकर्ताओं को है इंतजार

राजस्थान बीजेपी में इन दिनों प्रदेशाध्यक्ष का पद खाली है.

राजस्थान: अब तक नहीं मिला बीजेपी को प्रदेश अध्यक्ष, 45 दिनों से कार्यकर्ताओं को है इंतजार
मदनलाल सैनी का निधन होने के बाद यह पद खाली है. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर: राजस्थान बीजेपी के कार्यकर्ता पिछले 45 दिनों से नए प्रदेशाध्यक्ष का इंतज़ार कर रहे हैं. प्रदेश में बिना प्रदेश अध्यक्ष के ही सदस्यता अभियान चलाया जा रहा है. लेकिन बीजेपी कार्यकर्ताओं की मन में सवाल यह उठ रहा है कि क्या निकाय चुनाव में भी बीजेपी बिना प्रदेश अध्यक्ष के ही हो जाएगी? 

राजस्थान बीजेपी में इन दिनों प्रदेशाध्यक्ष का पद खाली है. अध्यक्ष के कमरे की कुर्सी को भी अपने नए अध्यक्ष का इंतजार है. 26 जून को मदन लाल सैनी के निधन के बाद से यह कुर्सी खाली पड़ी है. पार्टी में लगातार कयास और अटकलों का दौर चल रहा है.

15 दिनों में हो सकती है नियुक्ति
इस संबंध में प्रतिपक्ष के उपनेता और पूर्व मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष का फैसला पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व को करना है और पार्टी में ऊपरी स्तर पर इस बारे में काफी मंथन भी हो चुका है. राठौड़ ने कहा कि संभवतया अगले 15 दिन में बीजेपी को नया प्रदेश अध्यक्ष मिल जाएगा. 

प्रदेश में सदस्यता अभियान जारी
इससे पहले भी पिछले साल जब अशोक परनामी ने प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दिया था तब भी 74 दिन तक यह कुर्सी खाली रही थी. लेकिन इस बार बीजेपी में सदस्यता अभियान चल रहा है. साथ ही आने वाले समय में राज्यसभा के उपचुनाव और उसके बाद स्थानीय निकाय फिर पंचायती राज के चुनाव भी सामने हैं. 

लाइव टीवी देखें-:

पार्टी में हुई रणनीतिक चर्चा
हालांकि इन चुनावों के लिए भी पार्टी ने प्रदेश अध्यक्ष की गैर मौजूदगी में ही अपनी तैयारी शुरू कर दी है. प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में आगे की तैयारियों पर मंथन भी किया और रणनीतिक चर्चा भी हुई. 

जल्द नाम तय होने का भरोसा
बीजेपी प्रवक्ता सतीश पूनिया ने मीडिया से बातचीत में कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता आधारित पार्टी है. इसलिए कौन अध्यक्ष है और कौन नहीं, इससे ज्यादा कुछ फर्क नहीं पड़ने वाला. पूनिया ने कहा कि केन्द्रीय संगठन से जल्द ही इस बारे में नाम तय होने की उम्मीद है.