प्याज ने बिगाड़ा कोटा में पढ़ रहे छात्रों के खाने का स्वाद, सलाद में भी नहीं मिल रहा

जाहिर है कि कोटा शिक्षा नगरी है, जहां लाखों की संख्या में छात्र रहते हैं. इसमें छात्र मेस और होटल में खाना खाते हैं लेकिन प्याज के दामों को देखते हुए इस मेस होटल संचालकों ने सलाद और सब्जी से प्याज गायब कर दी है.

प्याज ने बिगाड़ा कोटा में पढ़ रहे छात्रों के खाने का स्वाद, सलाद में भी नहीं मिल रहा
छात्रों का कहना है कि बिना प्याज के उनका खाना बेस्वाद हो चला है.

हिमांशू मित्तल, कोटा: देशभर में प्याज़ (Onion) के बढ़ते दामों ने रसोई में कहर बरपा रखा है. लगातार प्याज के बढ़ते दामों से प्याज रसोई से लुप्त हो गया है. प्याज़ (Onion) की बढ़े दामों ने शिक्षा की काशी कोटा में भी खाने का स्वाद बिगाड़ रखा है. कोटा में हज़ारों की तादाद में मेस और हॉस्टल चलते हैं लेकिन थाली से अब पूरी तरह प्याज़ (Onion) ग़ायब हो गया है. 

मेस संचालकों का कहना है कि प्याज के दाम महंगे होने से उनके बजट से प्याज बाहर हो चुका है. वहीं सब्जी में प्याज नहीं होने से कोटा के छात्रों का स्वाद बिगड़ रहा है.

जाहिर है लगातार प्याज के दाम आसमान छू रहे हैं. घर में गृहणियों का बजट तो बिगड़ ही गया है, प्याज ने कोटा के छात्रों का स्वाद भी बिगाड़ दिया है. 

जाहिर है कि कोटा शिक्षा नगरी है, जहां लाखों की संख्या में छात्र रहते हैं. इसमें छात्र मेस और होटल में खाना खाते हैं लेकिन प्याज के दामों को देखते हुए इस मेस होटल संचालकों ने सलाद और सब्जी से प्याज गायब कर दी है. मेस संचालकों का कहना है कि दाम ज्यादा होने की वजह से ये फैसला करना पड़ा है. पहले जो प्याज की बोरी 500 में मिल जाती थी, वो अब 3200 की मिल रही है. ऐसे में कैसे प्याज खरीदें?

वहीं छात्रों का कहना है कि बिना प्याज के उनका खाना बेस्वाद हो चला है. पहले ही कोटा के छात्रों को घर स्वाद की याद आती है. रही सही कसर प्याज की कमी ने पूरी कर दी है. हालांकि मैस संचालकों का कहना है कि प्याज के दाम कम होंगे तो ही वो प्याज खरीद पाएंगे.

जाहिर है प्याज के बढ़ते दामों ने आम जनता पर कहर बरपा रखा है. इसके चलते सरकार ने प्याज आयात का निर्णय भी लिया गया है. देखना है कि कब तक प्याज के दामों से जनता को राहत मिलती है.

Sumit Singh, News Desk