झुंझुनूं: लॉकडाउन में चल रहा ऑनलाइन सत्संग, महिलाएं बच्चों को सिखा रहीं आध्यात्म

महिलाओं और बच्चों के बाद अब श्री श्याम सखी दरबार ने अब युवतियों को भी आध्यात्म से जोड़ा है.

झुंझुनूं: लॉकडाउन में चल रहा ऑनलाइन सत्संग, महिलाएं बच्चों को सिखा रहीं आध्यात्म
संस्था की महिलाएं एक दिन छोड़कर एक दिन एक घंटे तक ऑनलाइन आकर सत्संग करती है.

संदीप केडिया, झुंझुनूं: कस्बे में संचालित श्री श्याम सखी दरबार की पहल पर पिछले करीब दो महीने से लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन सत्संग चल रहा है. जो न केवल अनूठा है बल्कि दरबार से जुड़ी महिलाओं द्वारा खूब पसंद किया जा रहा है. 

दरबार की संयोजिका रेखा संदीप हिम्मतरामका ने बताया कि लॉकडाउन से पहले श्री श्याम सखी दरबार का हर माह में एक बार सत्संग कार्यक्रम संस्था की किसी एक महिला के घर पर होता था लेकिन लॉकडाउन के बाद हालात बदल गए. फिर महिलाओं ने ऑनलाइन सत्संग करने का निर्णय लिया. 

इसके बाद संस्था की महिलाएं एक दिन छोड़कर एक दिन एक घंटे तक ऑनलाइन आकर सत्संग करती है. इमो एप के जरिए एक साथ 6-8 महिलाएं जुड़ती हैं, जो सत्संग कर अपने आध्यात्म को मजबूत कर रही हैं. उन्होंने बताया कि आगे भी लॉकडाउन जारी रहने तक वे इसी तरह से सत्संग करेंगी. 

इधर, इस बीच लॉकडाउन में बच्चों के लिए भी हर एक दिन छोड़कर एक दिन आधे घंटे का सेशन रखा जा रहा है, जिसमें अब तक 25 बच्चे शामिल है, जिन्हें श्रीकृष्ण समेत अन्य देवी-देवताओं के जीवन के बारे में बताया जा रहा है. साथ ही उन्हें तरह-तरह के टास्क देकर उन्हें आध्यात्म से जोड़ा जा रहा है. बच्चों में इन सेशन का कितना प्रभाव है, इसे जानने के लिए उनसे ऑनलाइन सवाल भी किए जाते है. इनमें सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले बच्चों को लॉकडाउन के बाद पुरस्कृत किया जाएगा. 

युवतियों को भी आध्यात्म से जोड़ा
महिलाओं और बच्चों के बाद अब श्री श्याम सखी दरबार ने अब युवतियों को भी आध्यात्म से जोड़ा है. लॉकडाउन के दौरान ही व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर 15 युवतियों को जोड़ा गया है, जो हर दिन ईश्वर से जुड़े भाव लिखती है और अन्य के लिखे भावों को पढकर आत्म मंथन करती है, जो भी एक अच्छी पहल है.