उदयपुर: शिकारियों के फंदे का शिकार हुआ एक और पैंथर, वन विभाग ने ट्रेंकुलाइज कर बचाया

यह पहला मौका नहीं है, जब कोई पैंथर शिकारी की ओर से बिछाए गए फंदे में फंसा हो. पहले भी इस तरह की घटनाएं सामने आई हैं.

उदयपुर: शिकारियों के फंदे का शिकार हुआ एक और पैंथर, वन विभाग ने ट्रेंकुलाइज कर बचाया
यह पहला मौका नहीं है, जब कोई पैंथर शिकारी की ओर से बिछाए गए फंदे में फंसा हो.

अविनाश जगनावत, उदयपुर: जिले में शिकारी अपनी काली कारतूतों को अंजाम देने से बाज नहीं आ रहे हैं. जिले के वन क्षेत्रों में वे फंदा लगा कर पैंथर का शिकार करने का जाल बिछा रहे हैं. सलूंबर क्षेत्र के जंगल में लगाए गए एक ऐसे ही फंदे में पैंथर फंस गया, जिसे वन विभाग की टीम ने ट्रेंकुलाइज किया.

जिले के सलूंबर वन क्षेत्र के खेरवाड़ा गांव के जंगल में अज्ञात शिकारी की ओर से लगाए गए फंदे में एक पैंथर फंस गया. जंगल में पैंथर की दहाड़ने की आवाजें आने लगी तो ग्रामीणों ने वन विभाग के अधिकारियों को इसकी सूचना दी. 

सूचना पर सलूंबर और उदयपुर वन विभाग की संयुक्त टीम मौके पर पहुंची. इस दौरान बड़ी संख्या में मौके पर ग्रामीण भी जमा हो गए. वहीं, शाम को उदयपुर से वन विभाग के शूटर सतनाम को बुलाया गया, जिन्होंने पैंथर को ट्रेंकुलाइज किया. इसके बाद पैंथर को फंदे से छुड़ा कर उदयपुर लाया गया. उपचार के बाद उसे फिर से वन क्षेत्र में छोड़ा जाएगा. वहीं, विभाग ने अज्ञात शिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

शिकारी के फंदे बने पैंथर के दुश्मन
यह पहला मौका नहीं है, जब कोई पैंथर शिकारी की ओर से बिछाए गए फंदे में फंसा हो. पहले भी इस तरह की घटनाएं सामने आई हैं. वहीं, कई बार वन विभाग के अधिकारियों ने जंगल से कई फंदे भी जब्त किए हैं लेकिन अभी तक शिकारियों को पकड़ने में विभाग को काई सफलता नहीं मिली है. ऐसे में अब विभाग के अधिकारियों को अपनी जांच को तेज कर शिकारियों को पकड़ने की ठोस योजना तैयार करनी होगी. इससे पैंथर का शिकार करने वाले शिकारियों को फंदे में फंसाया जा सके.